BREAKING NEWS
Hindi News

Opinion News

लोकसभा चुनाव के 6 चरणों के बाद यह ज्वलंत प्रश्न उठता है कि क्या नेताओं की सभाओं व रोड शो में उमड़ पड़ने वाली भीड़ वोटों के तब्दील होगी? वर्तमान हालात में इस बारे में कोई भी नेता ताल ठोक कर यह नहीं कह सकता कि जुटी भीड़ वोट में तब्दील हो जाएगी।
सयुक्त राष्ट्र ने बीते सप्ताह सोमवार को आकलन में कहा कि वनस्पति और जीवों की 10 लाख प्रजातियां विलुप्ति के कगार पर पहुंच गई है।
ये मात्र कुछ शब्द नहीं है, मात्र एक वाक्य नहीं है वरन् यह नेक जीवन की नींव है, महान जीवन का प्रतिबिंब है, इंसानियत का फरिश्ता है, अपनेपन का पवित्र धागा है और संवेदनाओं का महासागर है।
चीन और अमेरिका के बीच व्यापारिक रिश्तों में तनातनी और बढ़ गई है। दोनों देशों के बीच वाशिंगटन में कारोबारी रिश्ते सुधारने के लिए होने वाली बैठक से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि चीन ने अमेरिका के साथ व्यापार समझौता रद्द कर दिया है।
आज ज्ञान की कमी नहीं है, ज्ञानियों की कमी नहीं है और राय देने वालों की भी कमी नहीं है बस कमी है तो सौ प्रतिशत सीखने और सौ प्रतिशत करने वालों की।
भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद पढ़ाई में शुरू से ही हमेशा तेज रहे और परीक्षाओं में उन्होंने हमेशा टॉप किया। कलकत्ता विश्वविद्यालय से उन्होंने लॉ की बीएलए परीक्षा में 75 फीसदी नंबर हासिल किए। परीक्षक ने उनकी कॉपी जांचने के बाद लिखा कि ‘‘परीक्षार्थी-परीक्षक से भी ज्यादा जानता है।
बात बंगाल की है, वहां गुष्करा नाम का एक छोटा सा रेलवे स्टेशन है। यहां पर बहुत कम गाडि़यां रूकती थी। एक दिन जैसे ही रेलगाड़ी स्टेशन पर रूकी, लोग झटपट अपना सामान उतारने लगे और कुछ अपने सामान के साथ गाड़ी में चढ़ने लगे।
जेट एयरवेज को संकट से उबारने के लिए शिवसेना की श्रमिक इकाई कामगार सेना ने कड़ी चेतावनी दी है कि यदि जेट एयरवेज को नहीं बचाया गया तो 10 मई के बाद मुंबई के दोनों एयरपोर्ट बंद कर दिए जाएंगे।
सुप्रीम कोर्ट ने ईवीएम-वीवीपैट मुद्दे पर 21 राजनीतिक दलों द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। लगातार ईवीएम राग अलाप रहे विपक्षी दलों को एक तरह से यह झटका ही है। इस पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि अदालत अपने पुराने फैसले को बदलना नहीं चाहती।
यह  विडंबना ही कही जाएगी कि आज अधिकांश व्यक्ति अपनी खुशी कहीं और तलाशते दिखाई देते हैं, स्वयं को दीन-हीन-बलहीन समझते हैं तथा सम्पर्क वालों को या अन्य लोगों को बिल्कुल समृद्ध समझते ही नहीं शत प्रतिशत मानते भी हैं
loading...
loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.