BREAKING NEWS
Hindi News

Opinion News

संविधान लागू होने के पश्चात् जसवंत कौर बनाम बंबई तथा मद्रास राज्य बनाम चम्पकम दौराय राजन फैसले के कारण 1951 में संविधान में पहला संशोधन अनुच्छेद 15 खण्ड 4 व अनुच्छेद 16 (4) द्वारा सामाजिक एवं शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्गों की उन्नति के लिए विशेष व्यवस्था कर लोक नियोजन में हितकर भेदभाव करने की सरकार को शक्ति प्रदान की गयी जिससे पिछड़ा वर्ग समूहों की सामाजिक असमानता को समाप्त किया जा सके।
शक्ति तेजी से करवटें बदल रहा है। जहां कभी वक्त कभी फुर्सत में हुआ करता था, वहीं आज तेज चलने ही नहीं लगा दौड़ने लगा है। व्यक्ति के पास सब कुछ है लेकिन समय नहीं है।
कांग्रेसनीत संप्रग (यूपीए) सरकार के दौरान गांवों में साल में 100 दिन रोजगार देने की गारंटी वाली महत्वाकांक्षी योजना महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत लोगों को समुचित काम नहीं दिए जाने पर सामाजिक संगठनों ने चिंता जताई है।
परिवार सिमट रहे हैं, समाज सिमट रहे है और यौं कहें कि पूरी दुनिया ही एक कोने में सिमट रही है। इसके लिए विज्ञान का शिखर पर होना या पश्चिमी संस्कृति का फैलना या फिर अंधी दौड़ का होना हो सकता है।
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारतीय चिकित्सा प्रणालियों के लिए राष्ट्रीय आयोग (एनसीआईएम) विधेयक के मसौदे को मंजूरी दे दी। इसका मकसद मौजूदा नियामक भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद (सीसीआईएम) के स्थान पर एक नया निकाय गठित करना है।
कम्प्यूटर की निगरानी के बारे में हालिया प्रावधानों को लेकर मचे सियासी बखेला के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बारे में सफाई दी है। गृह मंत्रालय ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसी भी जांच एवं प्रवर्तन एजेंसी को इस बारे में ‘पूर्ण शक्ति’ नहीं दी है।
बात कोलकाता की है। किसी विद्यालय में दो विऋार्थियों में आपस में गहरी मित्रता थी। वे एक दूसरे की भावनाओं की कद्र करते थे और आपस में एक दूसरे की सहायता भी बहुत करते थे।

कोहरे से कोहराम

Monday, 07 Jan 2019 02:45:12 PM
देश में कड़ाके की सर्दी के साथ अब कोहरा की कहर ढाने लगा है। जयपुर-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग नं. 8 पर नीमराना के पास दुधेड़ा मोड पर गुरुवार की सुबह घने कोहरे के कारण दो दर्जन वाहन भिड़ गए।
कांग्रेस द्वारा तीन राज्यों में सरकार बनाने के बाद त्वरित कार्रवाई कर किसानों का कर्ज माफ दिए जाने के बाद भाजपानीत केंद्र सरकार भी किसानों के लिए बड़ी घोषणाएं किए जाने की तैयारी में है।
चूंकि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी हैं। समाज है तो व्यक्ति है क्योंकि समाज से ही व्यक्ति की पहचान है, और यह पहचान ही उसे आगे और आगे ले जाती है यदि वह अपने सामाजिक कार्यों का सही तरीके से निर्वहन करता है।

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.