त्योहारी सीजन में भी रफ्तार नहीं पकड़ पाया कार बाजार, दोपहिया बिक्री में उछाल

Samachar Jagat | Friday, 02 Nov 2018 11:01:07 AM
Car market does not catch pace even in festive season, boom in two-wheeler sales

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। ईंधन की आसमान छूती कीमतों और उच्च ब्याज दरों के चलते अक्टूबर का त्योहारी मौसम वाहन उद्योग के लिए बहुत उत्साहजनक नहीं रहा और मारुति सुजुकी, हुंडई, महिद्रा एवं टोयोटा ने पिछले महीने एक अंक में वृद्धि दर्ज की। होंडा कारों की बिक्री अक्टूबर में पिछले साल के इसी महीने की तुलना में लगभग बराबर रही। वहीं टाटा मोटर्स और फोर्ड इंडिया की बिक्री में उल्लेखनीय वृद्धि देखने को मिली।


देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने बृहस्पतिवार को जानकारी दी कि अक्टूबर में उसकी घरेलू बिक्री 1.5 प्रतिशत बढ़कर 1,38,10 इकाई रही जो अक्टूबर 2017 में 1,36,000 वाहन थी। इसमें कंपनी की ऑल्टो और वैगन आर जैसी छोटी कारों की बिक्री 32,835 इकाई रही जो पिछले साल अक्टूबर में 32,490 कारें थी।

मारुति सुजुकी ने अक्टूबर में बेचे 1,46,766 वाहन

इसी तरह स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर जैसी कॉम्पैक्ट श्रेणी में कंपनी ने 64,789 कारों की बिक्री की जो अक्टूबर 2017 में 62,480 वाहन थी। मिड-सेडान श्रेणी में कंपनी ने 3,892 सियाज की बिक्री की। वहीं विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और अर्टिगा जैसी यूटिलिटी वाहन श्रेणी में कंपनी की बिक्री घटी है और यह 11.2 प्रतिशत घटकर 20,764 वाहन रही जो अक्टूबर 2017 में 23,382 वाहन रही। अक्टूबर में कंपनी का निर्यात 17 प्रतिशत घटकर 8,666 वाहन रहा जो पिछले साल इसी माह में 10,446 वाहन था। उसकी प्रतिद्वंद्वी हुंडई ने नई सेंट्रो और क्रेटा, एलिट आई20 और ग्रैंड आई 10 जैसी कारों की मजबूत मांग के बल पर अक्टूबर में घरेलू बाजार में किसी भी महीने की तुलना में सर्वाधिक कारों की बिक्री की।

कंपनी के वाहनों की घरेलू बिक्री में 4.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। कंपनी ने इस साल अक्टूबर में 52,001 वाहन घरेलू बाजार में बेचे। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी ने 49,588 गाड़ियों की बिक्री की थी। घरेलू वाहन निर्माता महिद्रा एंड महिद्रा ने कहा कि आलोच्य महीने के दौरान उसकी यात्री वाहनों की बिक्री तीन प्रतिशत बढ़कर 24,066 इकाई पर पहुंच गयी। पिछले साल की इसी अवधि में कंपनी ने 23,453 वाहनों की बिक्री की थी। महिंद्रा एंड महिंद्रा के अध्यक्ष (ऑटोमोटिव क्षेत्र) राजन वढेरा ने कहा, ''ग्राहकों में खरीदारी को लेकर कमजोर रूझान के कारण पिछले कुछ महीनों से यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री में कमी देखी गयी है। इसलिए इस बात को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है कि आखिर में त्योहारी मौसम कैसा रहता है।’’

इसी तरह टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने इस अक्टूबर में दो प्रतिशत वृद्धि के साथ 12,606 वाहनों की बिक्री की। कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर में घरेलू बाजार में 12,403 वाहन बेचे थे। टीकेएम के उप-प्रबंध निदेशक एन राजा ने कहा, “हमें खुशी है कि ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी, ऊंची ब्याज दर और बीमा प्रीमियम में वृद्धि के चलते ग्राहकों के कमजोर रूझान के बावजूद हम कारोबार को बेहतर बनाये रखने में कामयाब रहे हैं।” होंडा कार्स इंडिया की बिक्री अक्टूबर में पिछले साल के मुकाबले लगभग बराबर रही। कंपनी ने इस दौरान 14,233 कारों की बिक्री की।

पिछले अक्टूबर में कंपनी ने 14,234 इकाइयों की बिक्री की थी। कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और निदेशक (बिक्री एवं विपणन) राजेश गोयल ने कहा, “त्योहारी मौसम होने के बावजूद पिछले वर्षों की मुकाबले ग्राहकों का रुझान कमजोर रहा। हालांकि अमेज की अच्छी बिक्री जारी है और हाल में पेश सीआर-वी से नये उत्साह का संचार हुआ है।” टाटा मोटर्स ने कहा कि पिछले महीने घरेलू बाजार में उसके यात्री वाहनों की बिक्री 11 फीसदी बढ़कर 18,290 इकाई रहीं। कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर में 16,475 यात्री वाहनों की बिक्री की थी।

सार्वजनिक परिवहन वाहनों में निगरानी उपकरण, आपात बटन एक जनवरी से अनिवार्य

टाटा मोटर्स के यात्री वाहन कारोबार के अध्यक्ष मयंक पारीक ने कहा, “जहां उद्योग दो प्रतिशत की दर से आगे बढ़ा है, वहीं टाटा मोटर्स ने 11 प्रतिशत की ठोस वृद्धि दर्ज की है। इसलिए ईंधन की कीमतों के बढ़ने, उच्च ब्याज दर और बीमा के प्रीमियम में वृद्धि के बावजूद हम सकारात्मक वृद्धि को कायम रखने में सफल रहे हैं। फोर्ड इंडिया के मुताबिक अक्टूबर में उसकी घरेलू बिक्री दोगुनी तक बढ़कर 9,044 पर पहुंच गयी। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी की घरेलू बिक्री 4,218 इकाई रही थी। फोर्ड इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनुराग मेहरोत्रा ने कहा, “निकट भविष्य में ग्राहकों के बीच कमजोर धारणा, ईंधन के ऊंचे दाम और ऊंची ब्याज दर के चलते वाहन क्षेत्र में प्रतिकूल माहौल बना रहेगा।”

उन्होंने कहा कि मजबूत ब्रांड, सही उत्पाद, प्रतिस्पर्धी लागत और प्रभावी स्तर की रणनीति से 'हमें उद्योग से अधिक तेज गति से’ वृद्धि हासिल करने में मदद मिली है। दोपहिया वाहनों की बात करें तो हीरो मोटोकॉर्प ने कहा कि अक्टूबर में उसकी बिक्री 16.4 प्रतिशत वृद्धि के साथ 7,34,668 इकाई रहीं। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया की बिक्री अक्टूबर में 12 प्रतिशत बढ़कर 5,21,159 वाहन रही। कंपनी ने पिछले साल की इसी अवधि में 4,66,552 दोपहिया वाहनों की बिक्री की थी। वहीं टीवीएस मोटर ने कहा कि अक्टूबर में उसने 26 प्रतिशत वृद्धि के साथ 3,98,427 दोपहिया वाहन बेचे।

कंपनी ने पिछले साल इसी अवधि में 3,17,411 वाहनों की बिक्री की थी। मोटरसाइकिल निर्माता रॉयल एनफील्ड ने इस साल अक्टूबर में एक प्रतिशत की वृद्धि के साथ 70,451 वाहन बेचे। कंपनी ने पिछले साल इसी अवधि में 69,492 इकाइयों की बिक्री की थी। वहीं सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया ने कहा कि पिछले महीने उसने 3076 फीसदी की वृद्धि के साथ 65,689 दोपहिया वाहनों की बिक्री की। - एजेंसी

 

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.