गडकरी ने वाहन उद्योग से कहा, मानसिकता बदलो, भविष्य के बारे में सोचो

Samachar Jagat | Monday, 10 Sep 2018 12:37:58 PM
Gadkari told the auto industry, change mentality and think about the future

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने को वाहन उद्योग भविष्य को प्राथमिकता देने और अपनी मानसिकता में बदलाव लाने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया सरकार उन्हें स्पष्ट नीतियों के साथ पूरा सहयोग देगी। यहां वैश्विक मोबिलिटी शिखर सम्मेलन 'मूव’ को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि सरकार कच्चे तेल आयात घटाने तथा प्रदूषण समाप्त करने की अपनी नीति को लेकर स्पष्ट है। इसी के मद्देनजर सरकार वैकल्पिक ईंधन प्रौद्योगिकी मसलन जैव ईंधन और इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को प्रोत्साहन दे रही है।

2019 में पेश किया जाएगा मारुति सुजुकी की छठी पीढ़ी WagonR का नया मॉडल, जानें कीमत और फीचर्स

मंत्री ने कहा, ''हमारी नीतियां स्पष्ट हैं। हम आपको प्रोत्साहन देना चाहते हैं, हम आपका समर्थन करना चाहते हैं....पर आपको अपनी तरफ से कुछ जरूरत को पूरा करना होगा। अपनी सोच या मानसिकता में थोड़ा बदलाव लाते हुए भविष्य को अधिक प्राथमिकता देनी होगी।’’ वह वाहन उद्योग के प्रतिनिधियों की टिप्पणियों का जवाब दे रहे थे। वाहन उद्योग भविष्य की मोबिलिटी के लिए नीतिगत मोर्चे पर स्पष्ट रूपरेखा चाहता है। गडकरी ने इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए 12 प्रतिशत माल एवं सेवा कर (जीएसटी) तय करने का उदाहरण देते हुए कहा कि सरकार अपनी नीतियों को लेकर स्पष्ट है।

ई-वाहन खरीदने की प्रमुख वजह ईंधन के दाम नहीं बल्कि वायु प्रदूषण होगी

हम वैकल्पिक ईंधन मसलन एथनॉल, मेथनॉल के अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देना चाहते हैं। मंत्री ने कहा कि वाहन उद्योग अपने मौजूदा कारोबारी मॉडल के साथ काफी अच्छा काम कर रहा है और देश की आर्थिक वृद्धि में बड़ी भूमिका निभा रहा है। लेकिन वाहन उद्योग को वर्तमान से आगे भविष्य की मोबिलिटी जरूरतों पर ध्यान देना होगा। इलेक्ट्रिफिकेशन के लिए गडकरी ने कहा कि पहले दोपहिया और तिपहिया को लक्ष्य करना आसाना होगा।- एजेंसी

निसान की भारत में 1,500 लोगों को नियुक्त करने की योजना

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.