मारुति के कार मालिकों के लिए कंपनी की नई सेवा, मौके पर ही पहुंचेगा मैकेनिक

Samachar Jagat | Saturday, 25 Aug 2018 10:20:00 AM
Marutis new car service for the car owners, the mechanic will reach the spot

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। देश की अग्रणी यात्री कार कंपनी के मालिकों के लिए अच्छी खबर है। यदि आप अपनी कार लेकर निकलें और यह रास्ते में कहीं खराब हो जाती है तो घबराने की जरुरत नहीं है। कंपनी ने ऐसी सेवा शुरु की है जिसके तहत मौके पर ही मैकेनिक पहुंचेगा और कार दुरुस्त करेगा। कंपनी की क्विक रिस्पांस टीम ऑन बाईक्स (क्यूआरटी) सेवा की शुरुआत गुरुवार को प्रबंधक निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी कीनिचि आयूकावा ने की है । क्यूआरटी सेवा कार मालिकों को विस्तार वारंटी पेशकश के तहत फ्री मुहैया कराया जाएगा।

ऐसे कार मालिक जो मारुति सुजूकी की वारंटी और विस्तार वारंटी सेवा के दायरे में नहीं हैं उन्हें क्यूआरटी सेवा को प्रति कॉल के आधार पर उपलब्ध कराया जाएगा। इसका शुल्क जहां पर ग्राहक की कार खराब होती है और उसकी दूरी कितनी है उस पर निर्भर करेगा। यह शुल्क 420 रुपए से 575 रुपए के बीच होगा। आयूकावा ने सेवा का शुभारंभ करते हुए कहा कि ग्राहक की सुविधा मारुति के लिए हमेशा सर्वोपरि रही है। कंपनी लगातार ग्राहकों को ऐसी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए तत्पर है जो ग्राहकों के लिए सुविधाजनक हो। उन्होंने कहा कि दो दशक पहले कंपनी ने सड़क के किनारे सहायता सेवा उपलब्ध कराने की शुरुआत की थी और क्यूआरटी इस दिशा में और बड़ा कदम है जो ग्राहकों की चिंताओं को दूर करने में बहुत मददगार साबित होगा।

Maruti will not build a luxury car, The biggest reason

उन्होंने बताया कि पहले चरण में 251 शहरों में 350 बाइक सवार मैकनिकों के दस्ते की शुरुआत की है। इसे धीरे धीरे वर्ष 2020 तक 500 शहरों में पहुंचाया जाएगा और मैकनिकों की संख्या एक हजार की जाएगी। ये मैकनिक पूरी तरह निपूर्ण  होंगे और ग्राहक की कार जहां खराब हुई है वहां से फोन कॉल आने के बाद कम से कम समय में पहुंचकर त्रुटि को दूर करेंगे। इस सेवा का इस्तेमाल ग्राहक मारुति केयर ऐप अथवा मारुति ऑन रोड सर्विस के टोल फ्री नंबर पर कर प्राप्त कर सकेेंगे।

कंपनी की ऐरेना सेवा के लिए टोल फ्री नंबर 18001021800 और नेक्सा के लिए 18001026392 होगा। ऐप या टोल फ्री नंबर पर शिकायत मिलने के बाद वेब आधारित प्रणाली जीपीएस स्थान का पता लगाएगा और उसके बाद मैकनिक को शिकायत दे दी जाएगी। उपभोक्ता और मैकेनिक फोन पर भी बातचीत कर सकते हैं । इसके जरिए ग्राहक को यह पता चल जाएगा कि मैकेनिक कितनी देर में पहुंच जाएगा। क्यूआरटी मैकेनिक करीब 90 प्रतिशत तक त्रुटि वहीं दुरुस्त करने में सक्षम होंगे। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.