यात्री वाहनों की बिक्री में अप्रैल में करीब आठ साल की सबसे बड़ी गिरावट

Samachar Jagat | Wednesday, 15 May 2019 10:21:46 AM
The biggest drop in nearly eight years in passenger vehicles sales in April

नई दिल्ली। देश में यात्री वाहनों की बिक्री में अप्रैल महीने में गिरावट दर्ज की गई है। यह अक्टूबर 2011 के बाद से अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है। यात्री वाहनों की घरेलू बाजार में बिक्री अप्रैल में 17.07 प्रतिशत गिरकर 2,47,541 इकाई रही। 
इससे पहले अप्रैल 2018 में 2,98,504 यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी। अक्टूबर 2011 के बाद यह यात्री वाहन क्षेत्र की बिक्री में सबसे बड़ी गिरावट है। अक्टूबर 2011 में बिक्री में 19.87 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी। भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम द्बारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, दोपहिया , वाणिज्यिक वाहनों समेत सभी प्रमुख वाहन श्रेणियों में अप्रैल में बिक्री में गिरावट दर्ज की गई। घरेलू बाजार में कारों की बिक्री अप्रैल में 19.93 प्रतिशत गिरकर 1,60,279 वाहन रही। एक साल पहले के इसी महीने में 2,00,183 कारें बेची गई थीं। इस दौरान मोटरसाइकिल की बिक्री भी 11.81 प्रतिशत गिरकर 10,84,811 इकाई रही जबकि एक साल पहले इसी महीने में यह आंकड़ा 12,30,046 इकाई था। 

Rawat Public School

Hyundai Venue की बुकिंग हुई शुरू, जो ग्राहक इस कार को खरीदना चाहते हैं वे इस तरीके से करा सकते हैं बुक

दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री अप्रैल 2019 में 16.36 प्रतिशत गिरकर 16,38,388 इकाइयों पर रह गई। इसकी तुलना में अप्रैल 2018 में 19,58,761 दोपहिया वाहन बेचे गए थे। सियाम ने कहा कि इसी प्रकार , वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री भी अप्रैल में 5.98 प्रतिशत गिरकर 68,680 वाहन रही। अप्रैल 2019 में विविध श्रेणियों में वाहनों की बिक्री 15.93 प्रतिशत गिरकर 20,01,096 इकाई रही , जो कि अप्रैल 2018 में 23,80,294 इकाई थी। सियाम के उप - महानिदेशक सुगातो सेन ने कहा, पिछले दस साल में हमने ऐसा नहीं देखा कि सभी श्रेणियों में बिक्री में गिरावट दर्ज की गई हो। नए वित्त वर्ष की शुरुआत बहुत ज्यादा अच्छी नहीं रही। उन्होंने कहा कि नकदी संकट और बीमा की लागत बढ़ने जैसे नकारात्मक कारकों के कारण बिक्री प्रभावित हुई है। 

अगर आप हुंडई की Grand i10 का सीएनजी वर्जन खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको करना होगा इतनी अतिरिक्त राशि का भुगतान

सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने कहा , सिर्फ वाहन क्षेत्र में ही नहीं बल्कि एफएमसीजी (रोजमर्रा उपभोग की वस्तुएं बनाने वाली कंपनियां) श्रेणी में भी गिरावट दर्ज की गई है। लोकसभा चुनाव के परिणाम आने और मजबूत सरकार बनने के बाद स्थितियां सुधार सकती हैं। हमें दूसरी छमाही में चीजें बेहतर होने की उम्मीद हैं। उन्होंने कहा कि अप्रैल में खुदरा बिक्री थोक बिक्री से बेहतर रही। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की यात्री वाहन बिक्री अप्रैल में 19.61 प्रतिशत गिरकर 1,31,385 इकाई रही। प्रतिद्बंदी कंपनी हुंदै मोटर इंडिया की बिक्री 10.12 प्रतिशत गिरकर 42,005 इकाई रही। महिंद्रा एंड महिंद्रा की यात्री वाहन बिक्री 8.52 प्रतिशत गिरकर 19,966 इकाई रही। दोपहिया श्रेणी में , हीरो मोटो कॉर्प की बिक्री 12.10 प्रतिशत गिरकर 5,34,161 इकाई रही। हालांकि , बजाज ऑटो की बिक्री 2.55 प्रतिशत बढ़कर 2,05,875 इकाई रही। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया की मोटरसाइकिल बिक्री 25.77 प्रतिशत गिरकर 1,57,569 इकाई रही। -एजेंसी

अपने पोर्टफोलियो से छोटी डीजल कारों को हटाने की तैयारी कर रही है टाटा मोटर्स, जानिए क्या है इसकी वजह?

बढ़ता जा रहा है होंडा की कारों का क्रेज, अप्रैल माह में बिक्री में हुई बढ़ोतरी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.