ई-वाहन खरीदने की प्रमुख वजह ईंधन के दाम नहीं बल्कि वायु प्रदूषण होगी

Samachar Jagat | Saturday, 08 Sep 2018 04:06:30 PM
The main reason for buying e-vehicles will be air pollution

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। करीब 87 प्रतिशत लोगों का मानना है कि उनके लिए इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के पीछे प्रमुख वजह वायु प्रदूषण होगी न कि पेट्रोल-डीजल के ऊंचे दाम। एक सर्वे में यह तथ्य सामने आया है। यह सर्वे ऐसे समय आया है जबकि सरकार पर्यावरणनुकूल इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने का प्रयास कर रही है। यह सर्वे क्लाइमेट ट्रेंड्स ने फोर्थलायन टेक्नोलॉजीज से कराया है। आनलाइन सर्वे 21 से 24 अगस्त के दौरान किया गया। इसमें 2,178 भारतीय ड्राइवरों, वाहन मालिकों तथा उन लोगों के विचार लिए गए हैं जो अगले दस साल में वाहन चलाना या खरीदना चाहते हैं।

निसान की भारत में 1,500 लोगों को नियुक्त करने की योजना

अध्ययन में कहा गया है कि देश में कॉर्बन उत्सर्जन में परिवहन क्षेत्र का हिस्सा करीब 24 प्रतिशत है। यह देश के कई शहरों में वायु प्रदूषण का प्रमुख स्रोत है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के 20 सबसे अधिक प्रदूषित शहरों में 14 भारत के हैं। सर्वे मे यह भी तथ्य सामने आया है कि ज्यादातर वाहन मालिक और ड्राइवर व्यक्तिगत रूप से वायु की खराब गुणवत्ता से प्रभावित होते हैं। सर्वे में शामिल करीब 87 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उनके लिए इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने की प्रमुख वजह बढ़ता वायु प्रदूषण है।

तिपहिया और क्वाड्रिसाइकिल वाहनों की उत्पादन क्षमता बढ़ाएगी बजाज ऑटो

करीब 76 प्रतिशत लोगों का कहना था कि अपने पड़ोसियों, दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ वे भी वायु प्रदूषण का शिकार हो रहे हैं। दिल्ली सबसे अधिक वायु प्रदूषण से प्रभावित है। 91 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उनकी जानकारी में कोई न कोई ऐसा व्यक्ति है जो वायु की खराब गुणवत्ता से प्रभावित है। इसी तरह हैदराबाद में 78 प्रतिशत, चेन्न्ई में 75 प्रतिशत, मुंबई में 74 प्रतिशत, बेंगलुरु में 71 प्रतिशत तथा कोलकाता में 70 प्रतिशत ने यही बात कही।- एजेंसी

फोर्ड इंडिया ने रिकॉल की 7,249 इकोस्पोर्ट, पावरट्रेन सॉफ्टवेयर को करेगी अपग्रेड

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.