सिगरेट पर नोटबंदी का असर! बिक्री में 40 प्रतिशत की गिरावट

Samachar Jagat | Tuesday, 22 Nov 2016 09:32:04 AM
सिगरेट पर नोटबंदी का असर! बिक्री में 40 प्रतिशत की गिरावट

नई दिल्ली। सिगरेट के पैकेट पर लोगों को चेताने के लिए डरावने विज्ञापन का सहारा लिया गया, लेकिन उससे सिगरेट की बिक्री और सेवन कम नहीं हुआ। लेकिन, नोटबंदी का असर ऐसा हुआ की लोगों के पास सिगरेट खरीदने के तक के पैसे नहीं रहे। शहर के पानवालों और अन्य व्यापारियों ने बताया कि सिगरेट की बिक्री में करीब 40 प्रतिशत गिरावट आ गई है।

उनका कहना है कि खुले की कमी के कारण रेग्युलर कस्टमर ने भी अपनी आदत पर काबू पा लिया है। एक पान दुकान मालिक किशन कुमार ने बताया, 'नोटबंदी की घोषणा होने के पहले चार दिनों में तो मैं एक भी सिगरेट नहीं बेच पाया। धीरे-धीरे इसकी सेल्स बढ़ी, फिर भी 8 नवंबर से पहले की बिक्री के मुकाबले यह करीब 40 प्रतिशत कम है।'

टीओआई की एक टीम ने शहर में अलग-अलग स्थानों पर पान वालों और कियोस्क लगाकर बीड़ी, सिगरेट और तंबाकू बेचने वालों की दुकान का जायजा लिया। करीब उनमें से सब ने यही बताया कि नोटबंदी के बाद ग्राहकों की संख्या में बड़ी गिरावट आई है।

लोगों का ध्यान असली वजह से हटाकर सिर्फ सरकार की बड़ाई करने मे ही कुछ लोग लगे हैं। इसके गरीबों को कितने गंभीर नतीजे भुगतने पड रहे हैं इसका किसी को कोई ख्याल नहीं है।

एक शख्स ने बताया, 'अचानक ऐलान से मेरे स्टॉल पर बिक्री करीब आधी रह गई है।' उन्होंने बताया कि नियमित ग्राहक सिगरेट समेत अन्य चीज उधार लेना चाहते थे लेकिन ऐसा संभव नहीं था। उन्होंने बताया, 'बड़े मैन्युफैक्चर्रस भी उधार नहीं बेच रहे हैं। इसलिए हमें ग्राहकों को उधार देना संभव नहीं था। बिक्री में गिरावट का यह एक बड़ा कारण है।'

जो लोग सिगरेट छोडऩा चाहते थे, उनको नोटबंदी से बड़ी राहत मिली। कुलागढ़ रोड के ललित बिश्ट ने बताया, 'अचानक कैश संकट के कारण शुरुआत में तो मैंने दिन भर में सिर्फ एक सिगरेट पीनी शुरू कर दी। फिर धीरे-धीरे इसे छोडऩे का फैसला किया। अब मैं खुश हूं कि पिछले एक सप्ताह में एक भी सिगरेट नहीं पी है।'            
 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.