सभी वित्तीय लेनदेन आईटी मंच पर हों, तो 100 प्रतिशत लेखा परीक्षण संभव : कैग

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Oct 2018 04:38:23 PM
All financial transactions are on the IT platform, 100 percent audit possible: CAG

नई दिल्ली। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) राजीव महर्षि ने बुधवार को कहा कि यदि सभी लेनदेन सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) मंच पर हों, तो उनके लिए सरकारी खर्च और प्राप्तियों की शत प्रतिशत लेखा परीक्षा (आडिट) करना संभव हो सकता है। कैग जैसी संस्था को और अधिक आजादी दिए जाने पर जोर देते हुए महर्षि ने कहा कि संविधान निर्माता बी आर अंबेडकर ने इस संस्था और इसकी स्वतंत्रता के मूल्य को पहचाना था। 

कैग ने कहा कि इस समय सरकार कल्याणकारी परियोजनाओं पर भारी राशि खर्च कर रही है। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि खर्च किए गए एक एक रुपए का हिसाब किताब रखा जाए। यहां 29वें महालेखाकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए महर्षि ने कहा कि कैग निरंतर अपनी प्रणाली की समीक्षा कर रहा है ताकि सरकार के बदलते प्रतिमान के हिसाब से ऑडिट  की दक्षता को सुधारा जा सके।

उन्होंने कहा, यदि हम यह सुनिश्चित कर सकें कि सरकार के सभी लेन-देन आईटी मंच के जरिए हों तथा उनका खंडन न किया जा सके आप 100 प्रतिशत लेद-देन की ऑडिट (लेखा परीक्षा) कर सकते हैं। हम ऐसे लक्ष्य की ओर बढ़ें जिसके हम हमेशा से आकांक्षी हैं। यह आकांक्षा है भरोसे की। 

महर्षि ने कहा, यहां तक कि संयुक्तराष्ट्र जिसका हम ऑडिट करते हैं, हमसे भरोसा चाहता है। हमें किसी स्तर पर यह भरोसा सरकार को भी देने में समर्थ होना होगा। उन्होंने कहा कि आज सूचना प्रौद्योगिकी लोगों के जीवन के सभी पहलुओं से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ी है। सरकार की डिजिटल इंडिया पहल से इसे और बढ़ावा मिलेगा। 

उन्होंने कहा कि ऑडिट और लेखा विभाग में यह हमारे लिए अवसर से अधिक चुनौती है। हमारे सामने आईटी प्रणाली सुरक्षा, मजबूती तथा ऑडिट किए जाने की क्षमता के हिसाब से ऑडिट करने की चुनौती है। महर्षि ने कहा कि कैग का कार्य महत्वपूर्ण है लेकिन यह काम हमेशा सुखद नहीं होता। कैग को अपना कामकाज बिना किसी भय और पक्षपात के राष्ट्रहित में करना होता है। हमारा सिद्धांत जनहित में सच्चाई के लिए प्रतिबद्धता है। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.