शीर्ष म्यूचुअल फंडों की परिसंपत्तियां 20 प्रतिशत बढ़कर हुई 23.4 लाख करोड़ रुपए

Samachar Jagat | Thursday, 05 Jul 2018 03:37:04 PM
Assets of top mutual funds increased by 20 percent to Rs 23.4 lakh crore

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड कंपनियों की प्रबंधन के तहत परिसंपत्ति (एयूएम) चालू वित्त वर्ष की अप्रैल - जून तिमाही में 20 प्रतिशत बढ़कर 23.40 लाख करोड़ रुपए हो गयी है। निवेशक जागरूकता अभियान और खुदरा निवेशकों के अधिक योगदान के चलते यह तेजी आई। एम्फी के आंकड़े के मुताबिक , इससे पिछली तिमाही में 42 म्यूचुअल फंड कंपनियों की प्रबंधन के तहत परिसंपत्ति 23.05 लाख करोड़ रुपए थी। तिमाही आधार पर सिर्फ 1.5 प्रतिशत की वृ्द्धि हुई। वहीं , अप्रैल - जून 2017 में कंपनियों की एयूएम 19.52 लाख करोड़ थी। 

आईएनएक्स मीडिया मामला: अदालत ने चिदम्बरम को दी राहत,  सीबीआई ने मांगी हिरासत

उद्योग जानकारों ने कहा कि खुदरा निवेशकों खासकर छोटे शहरों के निवेशकों की मजबूत भागीदारी सालाना आधार पर वृद्धि के लिए जिम्मेदार है। इसके अलावा , उद्योग द्वारा चलाए जा रहे निवेशक जागरूकता अभियान और व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी) ने भी एएमयू में वृद्धि में मदद की। एम्फी के मुख्य कार्यकारी एन एस वेंकटेश ने कहा , हाल में आए उतार - चढ़ाव के बावजूद म्यूचुअल फंड में मजबूत निवेश आगे भी जारी रहेगा। 

अफवाहों और फर्जी खबरों पर रोक की तैयारी, वॉट्सएप और फेसबुक के साथ सरकार करेगी बैठक

समीक्षाधीन अवधि के दौरान कुल 42 म्यूचुअल फंड कंपनियों में से 33 कंपनियों के प्रबंधन के तहत परिसंपत्ति में वृद्धि दर्ज की गयी है जबकि आठ कंपनियों के एयूएम में गिरावट दर्ज की गयी है। इसके अलावा श्रेई म्यूचुअल फंड की परिसंपत्ति आधार को शामिल नहीं किया गया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड 3,10,166 करोड़ रुपए की प्रबंधन के तहत परिसंपत्ति के साथ सबसे बड़ी म्यूचुअल फंड कंपनी बनी हुई है। दूसरे पर एचडीएफसी म्यूचुअल फंड (3,06,840 करोड़ रुपए), तीसरे पर आदित्य बिड़ला सनलाइफ (2,49,270 करोड़ रुपए) है। -एजेंसी 

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.