म्यूचुअल फंड के प्रबंधन अधीन परिसंपत्तियां नवंबर अंत तक हुईं 24 लाख करोड़ रुपए

Samachar Jagat | Saturday, 08 Dec 2018 09:26:25 AM
Assets under management of mutual funds up to Rs 24 lakh crore by the end of November

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड कंपनियों के प्रबंधन अधीन परिसंपत्तियां नवंबर अंत तक आठ प्रतिशत बढ़कर 24.03 लाख करोड़ रुपए हो गई। इससे पिछले महीने यानी अक्टूबर अंत तक यह आंकड़ा 22.23 लाख करोड़ रुपए था। इसकी अहम वजह तरल निवेश योजनाओं में होने वाला मजबूत निवेश है। म्यूचुअल फंड कंपनियों के संगठन एएमएफआई के अनुसार, भारत के एक सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था बनने और मुद्रास्फीति दरों के नीचे आने से निकट भविष्य में शेयरों के बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

मात्र 500 रूपए में मिल रहा है ये 4जी फोन, आराम से चला सकते हैं फेसबुक, व्हाट्सएप और यूट्यूब

एएमएफआई के मुख्य कार्यकारी एन. एस. वेंकटेश ने कहा, हमें उम्मीद है कि अगले साल और अधिक निवेशक म्यूचुअल फंड को निवेश विकल्प के तौर पर चुनेंगे। एएमएफआई के आंकड़ों के अनुसार 42 म्यूचुअल फंड कंपनियों के प्रबंधन अधीन परिसंपत्तियां अक्टूबर के अंत तक 22.23 लाख करोड़ रुपए थीं। नवंबर के अंत तक यह बढ़कर 24.03 लाख करोड़ रुपए हो गईं। सभी कंपनियों का कुल परिसंपत्ति आधार नवंबर अंत तक 22.79 लाख करोड़ रुपए रहा।

अगर ये नियम हो जाता है लागू तो पुलिस की निगरानी में होगा आपका व्हाट्सएप

तरल निवेश योजनाओं में कुल 1.36 लाख करोड़ रुपए निवेश हुआ है। इसके अलावा शेयर एवं उससे जुड़ी निवेश योजना में 8,400 करोड़ रुपए और संतुलित निवेश योजनाओं में 215 करोड़ रुपए निवेश किए गए हैं। इसी तरह स्वर्ण ईटीएफ में 10 करोड़ रुपए का निवेश हुआ। वहीं आय कोष में 6,518 करोड़ रुपए की निकासी हुई। नवंबर में म्यूचुअल फंड में कुल निवेश 1.42 लाख करोड़ रुपए रहा जो अक्टूबर के 35,500 करोड़ रुपए के निवेश से कहीं अधिक है। -एजेंसी

ओप्पो आर17 प्रो स्मार्टफोन भारत में हुआ लांच, 5 मिनट चार्ज करने पर दो घंटे चलती है बैटरी

क्विकर से खरीदें कोई भी 4जी स्मार्टफोन, jio देगा 2200 तक का कैशबैक

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.