वित्तीय घोटालों की जांच में बैंकिंग, कर विशेषज्ञों की सेवाएं लेगी CBI

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 08:32:10 AM
CBI seeks services of banking, tax experts in financial scandal

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) करोड़ों रुपए के वित्तीय घोटालों की जांच में बैंकिंग और कर विशेषज्ञों की मदद लेगी। सीबीआई ने अन्य मंत्रालयों से अपने यहां बैंकिंग और कर विशेषज्ञों को प्रतिनियुक्ति पर भेजने का आग्रह किया है। जांच एजेंसी ने इसके लिये उन्हें अच्छा खासा मौद्रिक प्रोत्साहन देने की पेशकश की है।

दूरसंचार उद्योग ने ट्राई के सार्वजनिक Wi-Fi मॉडल का किया विरोध, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बताया खतरा

इस समय सीबीआई 13,000 करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले तथा कई अन्य वित्तीय घोटालों की जांच कर रही है। सीबीआई ने वित्त मंत्रालय और अन्य महत्वपूर्ण मंत्रालयों को आधिकारिक रूप से पत्र भेजकर सलाहकार (बैंकिंग), वरिष्ठ सलाहकार (विदेश व्यापार या विदेशी विनिमय), उप सलाहकार (विदेश व्यापार या विदेशी विनिमय) और वरिष्ठ सलाहकार कराधान की प्रतिनियुक्ति की मांग की है।

'किसानों के लिए एक और खुशखबरी देने वाली है सरकार'

बताया जाता है कि जिन अधिकारियों को प्रतिनियुक्ति पर सीबीआई में भेजा जाएगा उन्हें एजेंसी में छोटे कार्यकाल के लिए अनुबंध किया जाएगा। विभिन्न मंत्रालयों को भेजे पत्र में कहा गया है कि ये अधिकारी जांच एजेंसी को बैंकिंग, विदेश व्यापार और विदेशी विनिमय, कराधान से संबंधित मामलों की जांच में तकनीकी सहयोग और अपनी विशेषज्ञ सेवाएं देंगे। इसके अलावा वे एजेंसी में काम कर रहे अन्य तकनीकी अधिकारियों के कामकाज की निगरानी करेंगे।

सीबीआई में प्रतिनियुक्ति पर आने वाले अधिकारियों को वेतन के अलावा 20 प्रतिशत का विशेष सुरक्षा भत्ता भी देय होगा। पत्र में कहा गया है कि इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अधिकारियों को इसके बाद अपने आवेदन को वापस लेने की अनुमति नहीं होगी।

अब फ्लिपकार्ट पर भी मिलेंगे खादी उत्पाद

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के अलावा सीबीआई ने कुछ समय पहले सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंक, आईडीबीआई बैंक के पूर्व चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक और एयरसेल के पूर्व प्रवर्तक सी शिवशंकरन और उनके पुत्र और कपनियों के खिलाफ आईडीबीआई बैंक के साथ 600 करोड़ रुपए की ऋण धोखाधड़ी का मामला भी दर्ज किया है।

ऊंचे एमएसपी से जीडीपी, मुद्रास्फीति पर पड़ेगा असर: रिपोर्ट

गत शुक्रवार को सीबीआई ने वडोदरा की डायमंड पावर इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. के 2,654 करोड़ रुपए के ऋण धोखाधड़ी मामले में बैंक आफ इंडिया के दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार किया था। वित्तीय धोखाधड़ी को लेकर रिजर्व बैंक के कुछ पूर्व अधिकारी भी सीबीआई जांच के घेरे में है। सूत्रों का कहना है कि वित्तीय विशेषज्ञों की मदद से जांच एजेंसी वित्तीय अपराधों की जांच को तेजी से पूरा कर पाएगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.