सीसीएल की 17 कोयला खनन परियोजनायें लटकी

Samachar Jagat | Wednesday, 22 Aug 2018 05:21:55 PM
CCL's 17 coal mining projects hang

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। सरकारी कोयला कंपनी कोल इंडिया की इकाई सीसीएल की 4,095.5 करोड़ रुपये की 21 खनन परियोजानओं में से 17 परियोजनाओं को देरी का सामना करना पड़ रहा है। बताते चलें कि हरित मंजूरी नहीं मिलने समेत अन्य कारणों की वजह से ये परियोजनायें लटकी हुई  हैं। सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट 2017-18 में कहा है कि 21 परियोजनाओं में से पारेज ईस्ट और हुरीलोंग परियोजना पर्यावरण और वन मंजूरी नहीं मिलने के कारण शुरू नहीं हो सकी है।

फिल्म 'पद्मावत' में महारावल रत्नसिंह के किरदार के लिए शाहिद कपूर नहीं बल्कि ये सुपरस्टार था भंसाली की पहली पसंद

जारी की गई रिपोर्ट में  कहा गया है कि कल्याणी ओपन कास्ट परियोजना को हरित मंजूरी मिलने के बाद ही शुरू किया जायेगा। शेष बची 18 परियोजनाओं में से, आम्रपाली ओसीपी समय से चल रही है और बाकी 17 परियोजनायें भूमि प्रमाणन, वन मंजूरी, पर्यावरण, कोयला निकासी की समस्या, पुनर्वास मुद्दे और सुरक्षा चिंताओं समेत अन्य कारणों के चलते देरी से चल रही हैं।

'मूवहैक’ 2018 में आए 20 से अधिक देशों से 7,500 आवेदन, परिवहन से जुड़ी समस्याओं का होगा समाधान

रिपोर्ट में कहा गया है कि 31 मार्च, 2018 तक सीसीएल के अधीन 11.28 करोड़ टन स्वीकृत क्षमता के साथ 21 परियोजनायें चल रही हैंं। तो वहीं दूसरी तरफ 34 परियोजनायें पूरी चुकी हैं। चल रही परियोजनाओं की स्वीकृत पूंजी 4,095.5 करोड़ रुपये है जबकि पूरी हो चुके परियोजानओं की स्वीकृत पूंजी 3,023.21 करोड़ रुपये है।- एजेंसी 

निर्माता बनने को लेकर श्रद्धा कपूर ने दिया बड़ा बयान, कहा दूसरों के लिए प्रेरणादायक काम है फिल्म बनाना लेकिन...

72nd Independence Day: भारत की आजादी के लिए किए गए संघर्ष, बलिदान, और जज्बें को बयां करती है बॉलीवुड की ये देशभक्ति फिल्में

दीपिका और रणवीर की शादी की फाइनल डेट आई सामने, नवंबर को इस दिन लेगें सात फेरे, ये रही पूरी जानकारी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.