एमईएआई का केंद्र, गोवा सरकार से खनन परिचालन शुरू करने का आग्रह

Samachar Jagat | Sunday, 29 Jul 2018 09:26:30 AM
Center of MEAI, Government of Goa urged to start mining operations

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

पणजी। खनन इंजीनियर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एमईएआई) ने केन्द्र और गोवा सरकार से आग्रह किया है कि वह राज्य में खनन गतिविधियां शुरू करने के लिए कदम उठाए। उच्चतम न्यायालय ने 7 फरवरी 2015 को दिए गए अपने फैसले में राज्य की 88 कंपनियों के लौह अयस्क खनन पट्टे के दूसरी बार नवीनीकरण को निरस्त कर दिया था। 

राहुल के आंख मारने को लेकर चिंतित न हो मीडिया, बुनियादी मुद्दों पर ध्यान दे : सिंधिया

एमईएआई के अध्यक्ष अरुण कुमार कोठारी ने गोवा में खनन गतिविधियां दोराहे पर- आगे की दिशा पर आयेजित सम्मेलन में बोल रहे थे। इस सम्मेलन में राज्य में खनन गतिविधियां शुरू करने और उसका समाधान निकालने पर चर्चा की गई। 
उन्होंने कहा, चार महीने से ऊपर हो चुके हैं और समस्या के समाधान की दिशा में केन्द्र अथवा राज्य सरकार की तरफ से कोई कदम नहीं उठाया गया।

राजनीति में महिलाओं के मुद्दे पर महिला आयोग की प्रमुख ने कहा - आरक्षण को लेकर मुझे आपत्ति है

एमईएआई देश में खनिज और खनन उद्योग में काम करने वाले पेशेवरों का प्रतिनिधित्व करता है। संगठन से 5,000 से अधिक खनन विशेषज्ञ जुड़े हुए हैं। कोठारी ने कहा कि गोवा में स्थिति दिन ब दिन बिगड़ती जा रही है। सरकार को अब समस्या का समाधान निकालने के लिए आगे आना चाहिए। इस स्थिति से राज्य में लाखों लोग बेरोजगार हो गए हैं। 

भारतीय खनन ब्यूरो के पूर्व महानियंत्रक राजन सहाय ने सुझाव दिया है कि राज्य सरकार कुछ समय के लिए खनन कार्य शुरू कर सकती है। इससे इस क्षेत्र पर निर्भर लोगों को कम से कम काम मिल जायेगा और अपनी दैनिक जरूरतों के लिए कमाई कर सकते हैं। -एजेंसी 

सरकारी कर्मचारियों ने नहीं की बूढ़े माता-पिता की सेवा, तो मिल सकता हैं दंड, यहां पर लागू होगा ये कानून 

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो मुजफ्फरपुर यौन शोषण मामले की जांच : कांग्रेस

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.