'पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार'

Samachar Jagat | Sunday, 09 Sep 2018 04:40:59 PM
'Central Government is responsible for increasing prices of petroleum products'

जयपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य एवं प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्षा कुमारी शैलजा ने पेट्रोल ,डीजल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि के लिए केन्द्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए पेट्रोलियम उत्पादकों पर तुंरत करों को कम करने और इसे वस्तु सेवा कर (जीएसटी)में शामिल करने की मांग की है।

भारत को पेट्रोल- डीजल की कीमत पर बगैर सोचे झटके में निर्णय लेने से बचना चाहिए: पेट्रोलियम मंत्री 

कुमारी शैलजा ने आज यहां पार्टी द्वारा कल समूचे देश में महंगायी और पेट्रोलियम उत्पादों की दरों में लगातार हो रही वृद्धि के विरोध में आयोजित भारत बंद के संबंध में आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुये यह मांग की । उन्होंने कहा कि पार्टी द्वारा महंगायी के खिलाफ आयोजित बंद शांतिपूर्ण रहेगा और इसमें पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों को अलग अलग जगह की जिम्मेदारी दी गयी है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं को बंद से मुक्त रखा गया है और इसके लिये किसी तरह का दवाब नही बनाया जायगा ।

फरवरी में अपने पारंपरिक स्थल बेंगलूरू में ही आयोजित होगी एयरोस्पेस प्रदर्शनी 

उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार पर प्रहार करते हुये कहा कि उनके 52 माह के शासन काल में एक्साईज ड्यूटी में लगभग 20 गुना अधिक वृद्धि की गयी । उन्होंने आंकडे देते हुये बताया कि यूपीए सरकार के समय देश में एक्साईज डयूटी मात्र 9.2 प्रतिशत थी जो मोदी शासन में बढकर 190. 48 प्रतिशत हो गयी। उन्होने कहा कि महंगायी ओर पेट्रोल की कीमतों को कम करने के नारों पर सत्तारूढ हुयी केन्द्र की मोदी सरकार की नीतियों के कारण समूचे देश की आम जनता महंगायी से त्रस्त है।

खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वाले तत्वों के विरुद्ध विशेष अभियान चलाने के निर्देश 

उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार कमी होने के बावजूद देश की जनता को पेट्रोल और डीजल महंगी कीमतों पर बेचा जा रहा है जबकि केन्द्र सरकार की ओर से विदेशों में विक्रेय किये जा रहे पेट्रोल मात्र 34 रूपए में तथा डीजल 29 रूपए में बेचा जा रहा है। 

उन्होंने केन्द्र सरकार पर मुनाफा कमाने का आरोप लगाते हुये कहा कि जीएसटी लागू करते समय मोदी सरकार ने इसमें पेट्रोलियम उत्पादों को शामिल करने का वायदा किया था लेकिन उसे पूरा नही किया गया है जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्बारा जनता को राहत देने के लिये केन्द्र से पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी में शामिल करने की मांग की जा रही है जिस पर केन्द्र ने चुप्पी साध रखी है।

तिपहिया और क्वाड्रिसाइकिल वाहनों की उत्पादन क्षमता बढ़ाएगी बजाज ऑटो 

कुमारी शैलजा ने कहा कि केन्द्र को आम जनता को राहत देने की बजाय मुनाफा कमाने की लत पड गयी है इसलिए वह चुनावों के समय जनता से किए गए वायदों को भुलाकर नित नये जुमले देकर जनता को भ्रमित करने में जुटी हुयी है। उन्होंने कहा कि केन्द्र और अधिकांश प्रदेशों में भाजपा की सरकार होने के बावजूद जनता को राहत देने के लिए वेट (वेल्यु एडेड टेक्स ) को कम नही किया जा रहा है जबकि कांग्रेस सरकार के समय राज्यों में वेट दरों को कम करके लोगों को राहत दी गयी थी। कुमारी शैलजा ने राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों के संबंघ में पूछे गए सवालों को टालते हुए दावा किया कि आमजनता की भावनाओं के आधार पर प्रदेश में कांग्रेस प्रचंड बहुमत से सरकार बनायेगी।


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.