छत्तीसगढ़ बन सकता है देश का जैव ईंधन केन्द्र: गडकरी

Samachar Jagat | Tuesday, 11 Sep 2018 12:52:24 PM
Chhattisgarh can become the country's biofuel center: Gadkari

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

रायपुर। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ पूरे देश के लिए जैव ईंधन का बड़ा केन्द्र बन सकता है। केन्द्रीय मंत्री गडकरी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राज्य को चार हजार 251 करोड़ के निर्माण कार्यों की सौगात दी। गडकरी ने दुर्ग जिले के चरौदा नगर में कार्यक्रम के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ पूरे देश के लिए जैव ईंधन का बड़ा केन्द्र बन सकता है। गडकरी ने बताया कि नागपुर में लगभग एक हजार ट्रेक्टर जैव ईंधन से चल रहे हैं। आज आवश्यकता जैव ईंधन के क्षेत्र में अनुसंधान करने की है। 

उन्होंने कहा कि हमने अभी पेट्रोल में एथनॉल मिलाकर वाहन चलाने का सफल प्रयोग किया है, इसे और अधिक बढ़ावा दिया जाएगा। गडकरी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कृषि क्षेत्र में वृद्धि दर बहुत अच्छी है। यहां चावल, गेहूं, दालें और गन्ना का उत्पादन प्रचुर मात्रा में है, लेकिन राज्य जैव ईंधन के रूप में भी आगे बढ़ सकता है। छत्तीसगढ़ में उत्पादित जेट्रोफा जैव ईंधन का इस्तेमाल पहली जैव ईंधन वाली उड़ान में किया गया, यह विमान देहरादून से दिल्ली पहुंचा।

गडकरी ने कहा कि हम आठ लाख करोड़ रुपए के पेट्रोल और डीज़ल आयात कर रहे हैं और इसकी कीमतें बढ़ रही हैं। रुपया डॉलर के मुकाबले गिर रहा है। मैं पिछले 15 सालों से कह रहा हूं कि देश के किसान, आदिवासी और वनवासी एथनॉल, मेथनॉल, जैव ईंधन का उत्पादन कर सकते हैं और विमान उड़ा सकते हैं। उन्होंने बताया कि देश में पेट्रोलियम मंत्रालय पांच एथनॉल संयंत्र स्थापित कर रहा है, जहां एथनॉल का उत्पादन धान के भूसे, गेहूं के भूसे, बांस और गन्ना से किया जाएगा।

केन्द्रीय मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि केन्द्र सरकार ने पिछले चार बरसों में छत्तीसगढ़ सरकार को सडक निर्माण के लिए लगभग 35 हजार करोड़ रूपए दिए हैं, अब सड़कों के लिए और 40 हजार करोड रूपए दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ सहित तीन नए राज्य बनाए थे, इनमें छत्तीसगढ़ तेजी से विकास कर रहा है। इस दौरान मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने चरौदा नगर में चार हजार 251 करोड़ रूपए के आठ निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया।

उन्होंने मनरेगा मजदूर टिफिन योजना अंतर्गत 25 हजार श्रमिकों के लिए को टिफिन वितरण का भी शुभारंभ किया। इन्हें मिलाकर विभिन्न योजनाओं के 25 हजार 824 हितग्राहियों के लिए 72.99 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि वितरण कार्य की शुरूआत की गई। समारोह में मुख्यमंत्री के आग्रह पर गडकरी ने दो हजार 218 करोड़ की लागत से 442 किलोमीटर की पांच सड़कों तथा चार बाय पास मार्ग का उन्नयन और पांच नए बायपास मार्ग निर्माण की स्वीकृति की घोषणा की। - एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.