चीन अमेरिका के साथ व्यापार वार्ता के लिए तैयार

Samachar Jagat | Saturday, 10 Nov 2018 01:54:05 PM
China ready for trade talks with US

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

वॉशिंगटन। चीन के एक वरिष्ठ राजनयिक ने कहा है कि अमेरिका और चीन के बीच द्विपक्षीय व्यापार वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए अहम है और चीन सरकार ने ट्रंप प्रशासन के साथ व्यापार वार्ता के लिए दरवाजे खुले रखे हैं। चीन का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब दो शीर्ष अर्थव्यवस्था वाले देश व्यापार युद्ध में उलझे हुए हैं।


चीन ने दी अमेरिका को चेतावनी, कहा- हमारे द्वीपों से दूर रहे

चीन के स्टेट काउंसलर यांग जाइची ने शुक्रवार को यहां एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा है कि अमेरिका चीन व्यापार परिषद के अनुसार चीन के साथ व्यापार और आर्थिक संबंध प्रत्येक अमेरिकी को प्रति वर्ष 850 डॉलर सालाना बचत का अवसर मुहैया कराता है साथ ही देश में कम से कम 60 लाख रोजगार के अवसर पैदा करता है।

यमन युद्ध में अमेरिकी मदद से विमानों में ईंधन भराने संबंधी करार खत्म किया जाए: सऊदी नीत गठबंधन

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ, रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस और चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंघे भी संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थे। यांग ने कहा है कि हमारे (चीन-अमेरिका) व्यापर और आर्थिक संबंधों की प्रकृति आपस में लाभकारी हैं और इसने दोनों देशों और उनकी जनता को काफी लाभ पहुंचाया है। वैश्विक औद्योगिक श्रृंखला के अभिन्न अंग के तौर पर चीन-अमेरिका व्यापार तथा आर्थिक संबंध वैश्विक तौर पर अधिक प्रभावी ढंग से संसाधन मुहैया कराते हैं और इसलिए यह वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए अहम है।

श्रीलंका में राष्ट्रपति ने संसद भंग की, गहराया राजनीतिक संकट

उन्होंने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार के जो मुद्दे हैं वे दोनों देशों के अलग अलग आर्थिक ढांचों और विकास स्तर के कारण हैं। यांग ने कहा है कि इन मुद्दों को बातचीत और विचार विमर्श से सुलझाया जा सकता है। व्यापार युद्ध किसी समाधान तक पहुंचाने की बजाय दोनों पक्षों तथा वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाएगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का इस माह के अंत में अर्जेंटीना में जी-20 बैठक से इतर मुलाकात का कार्यक्रम है। पोम्पिओ ने मीडिया से मुलाकात में कहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अमेरिका चीन के साथ रचनात्मक तथा परिणाम आधारित संबंध चाहता है जो कि निष्पक्ष, परस्परता और सम्मान पर आधारित हो। इसके अलावा, उन्होंने ईरान के परमाणु हथियार कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए चीन की सरकार और ऊर्जा कंपनियों से सहयोग की उम्मीद जताई।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.