भारत में चीन ने द्रुतगामी रेल परियोजनाओं में रूचि दिखाई

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Sep 2017 05:10:24 PM
भारत में चीन ने द्रुतगामी रेल परियोजनाओं में रूचि दिखाई

नई दिल्ली। चीन ने भारत में हाई स्पीड रेल परियोजनाएं स्थापित करने के अपने प्रस्ताव को नये सिरे से पेश करने में आज रूचि दिखाई, भारत ने इस तरह की पहली परियोजना के लिए जापान को अपना भागीदार चुना है, चीन के विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता गेंग शुआंग से जब मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना में जापानी प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, चीन को क्षेत्र के देशों में हाई स्पीड रेल सहित अन्य बुनियादी ढांचे को देखने में खुशी है।

सातवीं तिमाही में भी डाटाभवड टैबलेट बाजार में लगातार अव्वल

उन्होंने एक तरह से परियोजना की बहाली में रचि दिखाते हुए कहा, हम क्षेत्रीय सहयोग के लिए भारत व अन्य क्षेत्रीय देशों के साथ सहयोग को बढावा देने को तैयार हैं, उन्होंने कहा, जहां तक रेलवे सहयोग का सवाल है तो यह भारत व चीन के बीच व्यावहारिक सहयोग का हिस्सा है। हमारे बीच इस बारे में महत्वपूर्ण सहमति बनी है। दोनों देशों के बीच सम्बद्ध अधिकारियों के बीच संवाद हो रहा है और मौजूदा परियोजनाओं में रेल की गति बढाई जा रही है।

जेवराती मांग से सोना 31 हजार पर

भारत व चीन में रेलवे के विकास हेतु सहयोग के अनेक समझौतों पर काम हुआ है जिसके तहत भारतीय रेलवे अभियंताओं को चीन में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। चीन एक रेल विश्वविद्यालय स्थापित करने में भी भारत की मदद कर रहा है। चीन ने भारत में कुछ रेलवे स्टेशनों के पुनरोद्धार का काम भी शुरू किया है,चीन में दुनिया का सबसे लंबा तीव्र गति रेल नेटवर्क है, उल्लेखनीय है कि चीन अपनी तीव्र गति रेल प्रौद्योगिकी का विदेशों में प्रचार प्रसार कर रहा है और वह भारत में पहला सौदा हासिल करने की दौड़ में था। उसने दिल्ली चेन्नई गलियारे के लिए व्यावहार्यता अध्ययन भी किया,चीन ने यह रचि ऐसे समय में दिखाई है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व जापान के प्रधानंत्री शिंजा अबे भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना की नींव रखने की तैयारी में हैं।– एजेन्सी

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.