कॉर्पोरेट कर की दर को 18 प्रतिशत पर लाया जाए, छूटों को खत्म किया जाए : सीआईआई

Samachar Jagat | Wednesday, 12 Jun 2019 03:29:21 PM
Corporate tax rate should be brought down to 18 percent, exemptions should be abolished CII

नई दिल्ली। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने कॉर्पोरेट कर की दर को घटाकर 18 प्रतिशत करने की मांग की है। उद्योग मंडल का कहना है कि कॉरपोरेट कर की दर को घटाने के साथ सभी कर छूटों को समाप्त करने से सरकारी खजाने को राजस्व का किसी तरह का नुकसान नहीं होगा। नरेंद्र मोदी 0.1 सरकार ने कॉरपोरेट कर की दर को धीरे-धीरे घटाकर 30 से 25 प्रतिशत पर लाने का प्रस्ताव किया था। सरकार पहले ही 250 करोड़ रुपए से कम के कारोबार वाली कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर को घटाकर 25 प्रतिशत कर चुकी है। 

एटीएम शुल्कों की समीक्षा के लिए समिति का हुआ गठन, दो महीने में सौंपनी होगी रिपोर्ट

सीआईआई के अध्यक्ष विक्रम किर्लोस्कर ने कहा कि हम कर में कटौती चाहते हैं, साथ ही छूटों को समाप्ति चाहते हैं। हम काफी सरल कर संहिता के पक्ष में हैं। किर्लोस्कर ने कहा, हमारे आंकड़ों से पता चलता है कि यदि कॉरपोरेट कर को घटाकर 18 प्रतिशत किया जाए और छूट या कर मुक्तता को शून्य पर लाया जाए, तो राजस्व की दृष्टि से तटस्थ होगा। हम इस तरह की दिशा में जाना चाहेंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी 2.0 सरकार का पहला बजट पांच जुलाई को पेश करेंगी। सीतारमण अभी विभिन्न अंशधारको के साथ बजट पूर्व विचार विमर्श कर रही हैं।

कमजोर वैश्विक संकेतों से कच्चातेल वायदा भाव में 11 रुपए की गिरावट

किर्लोस्कर ने कहा कि सरकार को निवेश और वृद्धि को प्रोत्साहन के उपाय भी करने चाहिए। 2018-19 में वृद्धि दर घटकर पांच साल के निचले स्तर 6.8 प्रतिशत पर आ गई है। उन्होंने कहा कि निवेश बढ़ाने के लिए सरकार को भू सुधार और श्रम कानूनों में सुधार करना होगा। किर्लोस्कर ने विश्वास जताया कि नई मजबूत सरकार के सत्ता में आने के बाद देश सात प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर हासिल करने में सफल रहेगा। -एजेंसी

मोदी सरकार ने वर्ष 2014 से उद्योग आधारित कई पहल की हैं जिससे कारोबारी माहौल में सुधार हुआ है: सीतारमण



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.