सौभाग्य योजना के तहत वितरण कंपनियों को मिलेगा 50 करोड़ रुपए का इनाम

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 01:31:20 PM
Distribution companies will get 50 crores reward under good luck scheme

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। बिजली मंत्रालय सौभाग्य योजना के तहत सभी घरों तक बिजली पहुंचाने के काम को सबसे पहले पूरा करने वाली बिजली वितरण कंपनी को 50 करोड़ रुपए का अनुदान देने और उसके कर्मचारियों को 50 लाख रुपए इनाम देने की योजना पर विचार कर रहा है। प्रधानमंत्री सहज हर घर बिजली योजना (सौभाग्य) को पिछले साल सितंबर में शुरु किया गया था। केन्द्र सरकार की 16,320 करोड़ रुपए की इस योजना का लक्ष्य दिसंबर अंत तक सभी 3.6 करोड़ घरों तक बिजली पहुंचाना है। 

सामान्य करदाताओं के अनुचित आकलन पर अंकुश लगाए विभाग, गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर हो कार्रवाई

इसके लिए मंत्रालय बिजली पहुंचाने वाले घरों की संख्या , भौगोलिक स्थिति इत्यादि मानकों के आधार पर राज्यों के विभिन्न समूह बनाएगा। हर समूह में सबसे पहले 100 प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने वाले राज्य को इनाम दिया जाएगा। हर समूह में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले एक ही व्यक्ति को इनाम दिया जाएगा। बिजली मंत्री आर . के . सिंह ने कहा, सौभाग्य के तहत लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हम राज्य वितरण कंपनियों को प्रोत्साहन देने और उन्हें प्रोत्साहन राशि देने पर काम कर रहे हैं।

दूरसंचार उद्योग ने ट्राई के सार्वजनिक Wi-Fi मॉडल का किया विरोध, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बताया खतरा

अपने राज्य में सबसे पहले लक्ष्य को पूरा करने वाली राज्य बिजली वितरण कंपनी के कर्मचारियों को हम एक स्मृति चिन्ह और 50 लाख रुपए देंगे। इसके अलावा जीतने वाली वितरण कंपनी को हम 50 करोड़ रुपए का अनुदान भी देंगे। इस योजना का लक्ष्य राज्य वितरण कंपनियों को एक - दूसरे से प्रतिस्पर्धा करने के लिए प्रोत्साहित करना है ताकि 100 प्रतिशत विद्युतीकरण के लक्ष्य को पूरा किया जा सके। - एजेंसी

खाद्यान्न उत्पादन में होगी बढ़ोत्तरी, एमएसपी बढऩे से होगी फसल उत्पादकता में वृद्धि 

विदेशी निवेशकों ने पांच कारोबारी सत्रों में किया 3,000 करोड़ रुपये का निवेश

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.