चौथे सप्ताह में भी बाजार में जारी रह सकती है उथल-पुथल

Samachar Jagat | Sunday, 20 Nov 2016 09:32:53 PM
चौथे सप्ताह में भी बाजार में जारी रह सकती है उथल-पुथल

नोटबंदी को लेकर संसद से सड़क तक मचे हंगामे से लगातार चौथे सप्ताह लुढ़क चुके बाजार की चाल आने वाले सप्ताह में इस बात पर निर्भर करेगी कि सरकार इस सदन के भीतर और बाहर इसका कितना अच्छा प्रबंधन करती है। साथ ही दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर को मिल रही अप्रत्याशित मजबूती का दवाब आगामी सप्ताह भी घरेलू शेयर बाजारों पर बना रह सकता है। 

बीएसई के 30 शेयरों वाले संवेदी सूचकांक सैंसेक्स और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एन.एस.ई.) के निफ्टी में लगातार चौथे सप्ताह गिरावट रही। सैंसेक्स 668.58 अंक की भारी गिरावट के साथ शुक्रवार को 26,150.24 अंक पर तथा निफ्टी 219.20 अंक की गिरावट के साथ 8,077.10 अंक पर बंद हुआ। सोमवार को गुरुनानक जयंती के अवकाश के बाद शेयर बाजार मंगलवार को भारी गिरावट में खुले। अमरीका में बांड पर मुनाफा बढऩे और अमरीका फेडरल रिजर्व द्वारा दिसंबर में नीतिगत दरें बढ़ाने की संभावना मजबूत होने से सप्ताह के चार कारोबारी दिवसों में पहले दिन ही सैंसेक्स 6 महीने के निचले स्तर 26,304.63 अंक पर आ गया। पिछले कारोबारी दिवस पर 11 नवंबर को 698.86 अंक लुढ़कने के बाद मंगलवार को इसमें 1.92 प्रतिशत यानी 514.19 अंक की गिरावट देखी गई। निफ्टी भी 2.26 प्रतिशत यानी 187.85 अंक फिसलकर 8,108.45 अंक पर बंद हुआ। यह दोनों का मई 2016 के बाद का निचला स्तर रहा था। 

बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय बाजार के सकारात्मक संकेतों और भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद से सैंसेक्स 5.94 अंकों की मामूली गिरावट के साथ 26,298.69 अंक पर जबकि निफ्टी 3.20 अंकों के उछाल के साथ 8,111.60 अंकों पर बंद हुआ। खुदरा महंगाई दर के 14 महीने के निचले स्तर यानी 4.20 प्रतिशत पर आने तथा थोक महंगाई में लगातार दूसरे महीने की गिरावट के साथ 3.39 प्रतिशत पर आने से अगले माह आर.बी.आई. द्वारा नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद बढ़ गई है जिसके प्रभाव में सैंसेक्स की गिरावट मामूली रही। 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.