निवेश की सुस्ती से चीन में आर्थिक नरमी बढऩे के संकेत

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 04:23:54 PM
Economic slowdown signs in China due to sluggish investment

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

बीजिंग। चीन की अर्थव्यस्था में नरमी के और अधिक संकेत मिले हैं। निवेश की रफ्तार नए न्यूनतम स्तर तक गिर गया है जबकि खुदरा खर्च और औद्योगिक उत्पादन एक स्तर पर स्थिर हो गया है।  चीन को इस समय बहुत नाजुक संतुलन बिठाना पड़ रहा है। वह अपने वृद्धि के लिए निवेश और निर्यात पर जोर देने की जगह घरेलू निजी खपत बढ़ाने पर जोर देना पड़ रहा है। इसके साथ ही उसे भारी कर्ज के बोझ से भी जूझना पड़ रहा है। अमेरिका के साथ व्यापार मोर्चे पर तनाव ने चीन के इस लक्ष्य को और जटिल बना दिया। देश का शेयर बाजार भी 2016 की गिरावट के बाद के न्यूनतम स्तर पर आ गया है। 

सेंसेक्स ने किया 38 हजार का आंकड़ा पार, 145 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ निफ्टी

चीन और अमेरिका के बीच विवाद सुलझाने के लिये चल रही उच्च स्तरीय वार्ता के बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से चीन से आयातित हर वस्तु पर उच्च शुल्क लगाने की धमकी ने उसकी मुश्किलें और बढ़ा दी हैं।  चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (एनबीएस) की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों में कहा गया कि व्यापार मोर्चे पर जारी जंग का आॢथक आंकड़ों पर अब तक सीमित प्रभाव पड़ा है।

स्टील उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 30 करोड़ टन सालाना करने में सेकेंडरी इस्पात क्षेत्र महत्वपूर्ण

पूंजीगत निवेश में जनवरी-अगस्त अवधि में सिर्फ 5.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। जनवरी से जुलाई के दौरान यह 5.5 प्रतिशत थी।  वहीं, कारखाना उत्पादन की वृद्धि दर जुलाई में 6 प्रतिशत से बढ़कर अगस्त में 6.1 प्रतिशत हो गयी। खुदरा बिक्री की वृद्धि दर अगस्त में 9 प्रतिशत रही, जो जुलाई में 8.8 प्रतिशत पर थी। विश्लेषकों ने चेताया कि यह उछाल उच्च मुद्रास्फीति में तेजी की वजह से भी हो सकती है।- एजेंसी

थोक मुद्रास्फीति अगस्त में घटकर 4.53 प्रतिशत पर

मरम्मत के लिए इलेक्ट्रॉनिक सामान के आयात के नियम सरल किए गए

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.