ऋणशोधन प्रक्रिया वाली कंपनियों पर 11 जून से रहेगी अतिरिक्त निगरानी

Samachar Jagat | Sunday, 10 Jun 2018 03:13:07 PM
Excess surveillance will remain on June 11 from companies with debt restructuring process

मुंबई। बाजार नियामक सेबी व स्टॉक एक्सचेंजों ने ऋणशोधन निपटान प्रक्रिया (आईआरपी) के तहत आई कंपनियों के लिए सोमवार से अतिरिक्त निगरानी उपाय करने का फैसला किया है। बीएसई ने एक बयान में यह जानकारी दी है। इसमें कहा गया है, पहले से ही लागू अनेक निगरानी कदमों की निरंतरता में सेबी व एक्सचेंजों ने फैसला किया है कि 11 जून 2018 से उन कंपनियों के लिए निगरानी उपाय लागू होंगे जो आईआरपी के तहत हैं। 

SBI को निपटान प्रक्रिया से 30,000 करोड़ रुपए की वसूली की उम्मीद

इसके तहत आईबीसी के अधीन पहले ही ऋणशोधन प्रक्रिया से गुजर रही कंपिनयों को पर पूर्व निर्धारित लक्षित मानकों के हिसाब से निगरानी रखी जाएगी। प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज बीएसई के आंकड़ों के अनुसार 75 कंपनियां इस समय ऋणशोधन व दीवाला संहिता (आईबीसी) के तहत ऋणशोधन प्रक्रिया से गुजर रही हैं।

प्लास्टिक प्रतिबंध के मामले में भारत ने वैश्विक नेतृत्व दिखाया: संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण प्रमुख

इनमें एबीजी शिपयार्ड, एमटेक आटो, भूषण स्टील, जेपी इन्फ्राटेक, इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स, मंधाना इंडस्ट्रीज, मोनेट इस्पात एंड एनर्जी, रूचि सोया, सुप्रीम टेक्स मार्ट, वर्धमान इंडस्ट्रीज तथा रेई एग्रो शामिल है। बाजार नियामक सेबी व स्टॉक  एक्सचेंज निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए अनेक ऐसे कदम उठा रहे हैं जिससे निगरानी व्यवस्था को मजबूत बनाया जा सके। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.