रुपये में गिरावट से देश का तेल आयात बिल 26 अरब डॉलर बढऩे की संभावना

Samachar Jagat | Thursday, 16 Aug 2018 04:37:15 PM
Fall in rupees India's oil import bill likely to increase by $ 26 billion

नई दिल्ली। रुपये में लगातार गिरावट से 2018-19 में देश का कच्चा तेल आयात बिल 26 अरब डॉलर तक बढ़ सकता है। डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरावट जारी रहने से तेल आयात बिल 114 अरब डालर तक पहुंच सकता है। उल्लेखनीय है कि डॉलर के मुकाबले रुपया आज शुरुआती कारोबार में 43 पैसे गिरकर 70.32 पर पहुंच गया। सरकारी अधिकारियों ने बताया कि इसका असर पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की खुदरा कीमतों पर भी पड़ सकता है।

सोनाली बेंद्रे की लेटेस्ट तस्वीरों के साथ ऋतिक रोशन की एक्स वाइफ सुजैन खान ने इंस्टा पर शेयर की इमोशनल पोस्ट

देश अपनी जरुरत का 80' से ज्यादा तेल आयात करता है। वर्ष 2017-18 में देश ने 22.043 करोड़ टन कच्चा तेल आयात किया। इस पर 87.7 अरब डॉलर (5.65 लाख करोड़ रुपये) खर्च हुए। वित्त वर्ष 2018-19 में 22.7 करोड़ टन कच्चा तेल आयात होने की संभावना है। एक सरकारी अधिकारी ने जानकारी दी कि चालू वित्त वर्ष की शुरुआत में हमें कच्चा तेल आयात बिल 108 अरब डॉलर यानी 7.02 लाख करोड़ रुपये रहने की उम्मीद थी।

सैफ अली खान की बेटी सारा ने इंस्टाग्राम पर किया डेब्यू, महज 1 दिन में ही फॉलोअर्स की संख्या लाखों के पार

यह आकलन हमने कच्चा तेल 65 डॉलर प्रति बैरल और 65 रुपये प्रति डालर की मुद्रा विनियम दर पर तय किया था। लेकिन 14 अगस्त तक रुपये की विनिमय दर का औसत 67.6 रुपये प्रति डॉलर रहा है। यदि वित्त वर्ष की बची अवधि में रुपया 70 के स्तर पर रहता है तो तेल आयात बिल 114 अरब डॉलर पर पहुंच जाने की संभावना है।- एजेंसी

72nd Independence Day: भारत की आजादी के लिए किए गए संघर्ष, बलिदान, और जज्बें को बयां करती है बॉलीवुड की ये देशभक्ति फिल्में

जन्मदिन विशेष: 48 वें जन्मदिन पर दूसरी पत्नी और एक्स वाइफ के बच्चों समेत पूरे परिवार के संग सैफ ने मनाया बर्थडे

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.