लगातार तीसरे महीने एफपीआई रहे शुद्ध निवेशक, अप्रैल में की 17,219 करोड़ रुपए की लिवाली

Samachar Jagat | Sunday, 28 Apr 2019 03:24:33 PM
For the third consecutive month FPI net investor bought Rs 17219 crore in April

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। अनुकूल वृहद आर्थिक परिस्थितियों तथा पर्याप्त तरलता के कारण विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) अप्रैल महीने में 17,219 करोड़ रुपए के शुद्ध खरीदार रहे। यह लगातार तीसरा महीना रहा जब एफपीआई शुद्ध लिवाल रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि सकारात्मक वैश्विक धारणा, आर्थिक वृद्धि के बेहतर होते परिदृश्य, अनुकूल वृहद आर्थिक परिस्थिति तथा रिजर्व बैंक द्बारा नरम रुख अपनाने के कारण फरवरी, 2019 से भारत विदेशी निवेशकों के निवेश पाने वाले शीर्ष देशों में से एक बना हुआ है।

Oppo F11 Pro Marvel’s Avengers Limited Edition स्मार्टफोन भारत में हुआ लांच, जानिए फीचर और कीमत

अप्रैल से पहले एफपीआई ने घरेलू बाजार (शेयर और ऋण) में मार्च में 45,981 करोड़ रुपए और फरवरी में 11,182 करोड़ रुपए का शुद्ध निवेश किया था। डिपॉजिटरीज के पास उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार अप्रैल महीने में एफपीआई ने शेयरों में 21,032.04 करोड़ रुपए लगाए जबकि बांड बाजार से उन्होंने 3,812.94 करोड़ रुपए की निकासी की। इस तरह वे घरेलू बाजार में इस दौरान 17,219.10 करोड़ रुपए के शुद्ध लिवाल रहे।

बेहतरीन फीचर्स और दमदार कैमरे के साथ लांच हुए Redmi 7 और Redmi Y3 स्मार्टफोन

मॉर्निंग स्टार के शोध प्रबंधक एवं वरिष्ठ शोध विश्लेषक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, वैश्विक अर्थव्यवस्था में नरमी की आशंका से कई केंद्रीय बैंकों ने ब्याज दर में बढ़ोतरी की है ताकि सुस्त पड़ती अर्थव्यवस्था को सहारा मिल सके। -एजेंसी 

वोडाफोन प्रीपेड रीचार्ज प्लान: 999 रूपए में करवाएं एक साल का रिचार्ज और पाएं अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ 12 जीबी डेटा फ्री

मात्र 1699 रुपए में मिलने वाले इस फोन से चार्ज किया जा सकता है किसी भी स्मार्टफोन को, बैटरी बैकअप है काफी अच्छा


 

loading...


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.