वित्त वर्ष 2019-20 में 7.20 प्रतिशत रह सकती है जीडीपी वृद्धि दर: रिपोर्ट

Samachar Jagat | Saturday, 08 Jun 2019 01:59:07 PM
GDP growth rate may be 7.20 percent in 2019-20 report

मुंबई। वित्तीय सेवाएं देने वाली कंपनी गोल्डमैन सैक्स ने शुक्रवार को अनुमान व्यक्त किया कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 2019-20 में 7.20 प्रतिशत रह सकती है। कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कच्चे तेल की नरम कीमतें, राजनीतिक स्थिरता और बुनियादी संरचना की दिक्कतों के दूर होने से जीडीपी की वृद्धि को समर्थन मिल सकता है। हालांकि उसने कहा कि गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनियों की दिक्कतों के कारण वृद्धि पर नरम होने का जोखिम है।

नीतिगत दर में कमी का लाभ ग्राहकों को अपेक्षाकृत अधिक ऊंचा और अधिक तेजी से देना चाहिए: दास

पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि दर पांच साल के निचले स्तर 5.80 प्रतिशत पर आ गई। इसके कारण पिछले वित्त वर्ष में जीडीपी की वृद्धि दर 6.80 प्रतिशत तक सीमित हो गई। गोल्डमैन की यह रिपोर्ट रिजर्व बैंक की दूसरी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के निष्कर्षों की घोषणा के एक दिन बाद आई है। रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को लगातार तीसरी बार रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती की है। रिजर्व बैंक ने 2019-20 के लिए जीडीपी वृद्धि दर का पूर्वानुमान 7.20 प्रतिशत से घटाकर सात प्रतिशत कर दिया है।

मुद्रा बाजार के उत्पादों से जुड़े नियमों को तर्कसंगत बनाएगा आरबीआई

गोल्डमैन ने कहा, आर्थिक वृद्धि दर में तेजी का कारण वित्त वर्ष 2019-20 में कच्चे तेल की कीमतें नरम रहने के हमारे अनुमान, चुनाव के बाद नई सरकार और मंत्रिमंडल के गठन से भरोसे में तेजी तथा बुनियादी संरचना क्षेत्र में दिक्कतों का आसान होना है। गोल्डमैन सैक्स ने यह अनुमान भी व्यक्त किया कि रिजर्व बैंक जुलाई-सितंबर में एक बार फिर से रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है। -एजेंसी

अजीम प्रेमजी से कर्मचारियों से कहा, रिशद के पास नया नजरिया, विप्रो को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.