अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने-चांदी की चमक हुई तेज

Samachar Jagat | Sunday, 10 Jun 2018 04:46:52 PM
Gold and silver glow in the international market

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में दोनों कीमती धातुओं की चमक बढ़ने और सर्राफा कारोबारियों की मांग आने से बीते सप्ताह दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 450 रुपए के तेज उछाल के साथ 32,050 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। सिक्का निर्माताओं के उठाव में तेजी आने और औद्योगिक मांग निकलने से चांदी भी 1,100 रुपए की छलांग लगाकर 41,600 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गयी।

SBI को निपटान प्रक्रिया से 30,000 करोड़ रुपए की वसूली की उम्मीद

विश्लेषकों के अनुसार, समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर के टूटने से पीली धातु को बल मिला है। लंदन एवं न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, गत सप्ताह लंदन का सोना हाजिर 4.80 डॉलर की साप्ताहिक तेजी के साथ सप्ताहांत पर 1,298.60 डॉलर प्रति औंस बोला गया। अगस्त का अमेरिकी सोना वायदा भी 5.60 डॉलर की साप्ताहिक तेजी के साथ 1,303.50 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चांदी हाजिर में 0.37 डॉलर की बढत रही और यह 16.75 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गयी। स्थानीय बाजार में गत सप्ताह छह दिन कारोबार हुआ जिसमें से पांच दिन सोने के भाव बढ़े। वैश्विक तेजी और सर्राफा कारोबारियों की मांग बढ़ने से सप्ताह के दौरान सोना स्टैंडर्ड 450 रुपए महंगा होकर शनिवार को 32,000 के आंकड़े के पार 32,050 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। सोना बिटुर भी इतनी ही बढत के साथ 31,900 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। आठ ग्राम वाली गिन्नी हालांकि 24,800 रुपए पर टिकी रही।

औद्योगिक मांग निकलने से चांदी हाजिर 1,100 रुपए की भारी बढत के साथ 41,600 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गयी। भविष्य में चांदी की कीमतों में तेजी के अनुमान से चांदी वायदा में 870 रुपए की साप्ताहिक बढत रही और यह 40,410 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गयी। आलोच्य सप्ताह में सिक्का लिवाली और बिकवाली सप्ताह के दौरान क्रमश: 76 हजार और 77 हजार रुपए प्रति सैकड़ा पर टिके रहे।

प्लास्टिक प्रतिबंध के मामले में भारत ने वैश्विक नेतृत्व दिखाया: संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण प्रमुख

विश्लेषकों के मुताबिक आगामी सप्ताह दोनों कीमती धातुओं पर अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक के नतीजे का असर दिखेगा। कारोबारियों का अनुमान है कि फेड इस बैठक में ब्याज दर में साल की दूसरी बढोतरी करने का निर्णय ले सकता है। ऐसा होने पर पीली धातु की मांग कमजोर पड़ेगी। हालांकि,उत्तर कोरिया और अमेरिका के शिखर सम्मेलन और जी7 की बैठक के कारण अंतरराष्ट्रीय पटल पर हलचल की स्थिति है और ऐसी स्थिति में पीली धातु निवेशकों को आकर्षित करती है। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.