गैर-कोयला खनिज ब्लॉक अन्वेषण में निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाने पर काम कर रही है सरकार

Samachar Jagat | Saturday, 18 Aug 2018 11:45:14 AM
Government is working to increase private sector participation in non-coal mineral block exploration

नई दिल्ली। सरकार दुनिया भर के हर स्तर के निजी प्रतिभागियों को अन्वेषण क्षेत्र में लाने और भारत में काम करने के लिए कोशिश कर रही है। खनिज अन्वेषण एवं निरंतरता पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान खान मंत्रालय के संयुक्त सचिव विपुल पाठक ने कहा की, सरकार गैर-कोयला खनिज ब्लॉक की अन्वेषण गतिविधियों में तेजी लाने के लिए निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाने पर जोर दे रही है। खान मंत्रालय ने कहा कि वह भविष्य में निजी क्षेत्र की भागीदारी को बढ़ाने के लिए काम कर रहा है। 

बाढ प्रभावित केरल में दूरसंचार सेवाएं निशुल्क, जियो सहित कई कंपनियां देगी 7 दिन के लिए मुफ्त सेवाएं

संयुक्त सचिव विपुल पाठक ने कहा, हम भविष्य में खनिज अन्वेषण में निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाने के लिए एक दस्तावेज भी तैयार कर रहे हैं। हम निजी क्षेत्र के प्रतिभागियों की कुछ श्रेणियों के लिए कुछ धन भी आवंटित करेंगे ताकि अन्वेषण गतिविधियों को निजी क्षेत्र तक फैलाया जा सके। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अन्वेषण गतिविधियां कम से कम हर साल दोगुनी बढ़नी चाहिए।

जियो की ऑप्टिकल फाइबर आधारित ब्रॉडबैंड सेवा Reliance jio gigafiber के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

सरकारी एजेंसियों की एक सीमा होती है। अन्वेषण गतिविधियों को बढ़ाने के लिए निजी कंपनियों को इस क्षेत्र में आना चाहिए और यही एक रास्ता है। उन्होंने कहा कि सरकार दुनिया भर के हर स्तर के निजी प्रतिभागियों को अन्वेषण क्षेत्र में लाने और भारत में काम करने के लिए कोशिश कर रही है। इस बीच , उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय खनिज नीति मसौदे को अंतिम रूप दिया जा रहा है। - एजेंसी 

इस खतरनाक बीमारी से पीड़ित थे अटल बिहारी वाजपेयी जिसका नहीं है कोई इलाज, जानें क्या बचने के उपाय

फर्जी खबरों के प्रति जागरूक करने और सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए सरकार ने शुरू किया जागरूकता अभियान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.