आईबीबीआई की दिवालिया पेशेवरों के कामकाज पर नजरः साहू

Samachar Jagat | Monday, 11 Jun 2018 03:16:03 PM
IBBI will look into the functioning of bankrupt professionals

नई दिल्ली। भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता बोर्ड (आईबीबीआई) दिवालिया पेशेवरों के आचरण (काम करने के तरीके) पर नजर रखता है और किसी भी तरह की गड़बड़ी करने पर उनके खिलाफ त्वरित कार्रवाई सहित पंजीकरण रद्द कर सकता है। आईबीआईबी के प्रमुख एम एस साहू ने यह बात कही। आईबीआईबी प्रमुख ने यह टिप्पणी कुछ मामलों में पेशेवरों के आचरण को लेकर उठी चिंताओं पर की है। बोर्ड ने उनमें से कुछ के खिलाफ आदेश भी पास किया है। 

सौर ऊर्जा नीलामी के एक और बार टलने की आशंका

दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता संहिता के तहत समाधान पेशेवरों की भूमिका समाधान प्रक्रिया की अहम भूमिका है और उनके पास महत्वपूर्ण शक्तियां हैं। साहू ने जोर देकर कहा कि दिवालिया पेशेवर सिर्फ एक पेशा नहीं है। दिवालिया पेशेवरों की आजादी एवं निष्पक्षता को सुनिश्चित करने और हितों के टकराव से बचने के लिए नियमों में पर्याप्त प्रावधान हैं। 

वीमार्ट की 300 करोड़ रुपए निवेश कर स्टोर की संख्या दो गुणी करने का लक्ष्य

यही नहीं, दिवालिया पेशेवर की ओर से की गई छोटी से गड़बड़ी से निपटने के लिए प्रावधान है। आईबीबीआई चेयरपर्सन ने पीटीआई - भाषा को दिए साक्षात्कार में कहा, आईबीबीआई दिवालिया पेशेवरों के आचरण पर मुस्तैदी से नजर बनाए हुए है और कानून के तहत त्वरित कार्रवाई की अनुमति देता है। 

वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे में संरचनात्मक बदलाव सुझा सकता है सीसीआई

साहू के मुताबिक, किसी भी तरह की गड़बड़ी के मामले में दिवालिया पेशेवरों के खिलाफ विभिन्न कार्रवाई की जा सकती हैं। इसमें पंजीकरण को रद्द करना या निलंबित करना और मौद्रिक जुर्माना जैसी कार्रवाई शामिल है। गौरतलब है कि कुछ मामलों में पेशेवरों के आचरण और काम करने के तरीके से असंतुष्ट बोर्ड ने उनमें से कुछ के खिलाफ आदेश भी पास किया है। -एजेंसी 

सौर ऊर्जा नीलामी के एक और बार टलने की आशंका

रोजगार सृजन के आंकड़े जुटाने की भरोसेमंद प्रणाली जरूरीः एसोचैम



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.