अगले साल ब्रिटेन को पछाड़ पाँचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा भारत: जेटली

Samachar Jagat | Thursday, 30 Aug 2018 05:26:52 PM
India will become fifth largest economy next year: Jaitley

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि अगले साल ब्रिटेन को पछाड़कर इंडिया के दुनिया की पाँचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की संभावना है। जेटली ने यहां भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग के नए भवन के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि अगले 10 से 20 साल में इंडिया के दुनिया की 3 प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होने की पूरी क्षमता है।

पाकिस्तान विफल पड़ चुके दृष्टिकोण से कश्मीर का मामला उठाता है : भारत

इस साल  भारत ने फ्रांस को पीछे छोड़ कर दुनिया की छठी बड़ी अर्थव्यवस्था बना है और अगले साल ब्रिटेन को पछाड़कर पाँचवें स्थान पर आ जाएगा। उन्होंने कहा कि दुनिया की अर्थव्यवस्थायें धीमी गति से आगे बढ रही हैं। वित्त मंत्री ने बढती अर्थव्यवस्था में प्रतिस्पर्धा आयोग की भूमिका का जिक्र करते हुए  कहा कि इंडिया में उपयोग अर्थव्यवस्था में कई गुना बढोतरी देखी जा चुकी है।

कई क्षेत्रों में हो रही तीव्र बढोतरी से कई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बड़ी कंपनियाँ सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि जब अर्थव्यवस्था बड़ी हो रही है तो ऐसे में हो सकता है कुछ लोग बाजार के नियमों का पालन नहीं करें। सांठगांठ करें और वे अपने वृहद आकार का लाभ उठाकर प्रतिस्पर्धा को प्रभावित करने या कीमतों को प्रभावित करने की कोशिश करेंगे।

इसलिए सभी विलय और अधिग्रहण के लिए नियामकीय तंत्र की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ये बहुत बड़े बदलाव हैं और इसलिए इनका बाजार पर प्रभाव भी बड़ा ही होगा। जेटली ने देश के पूर्वी क्षेत्र में विकास की संभावनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि विकास को गति देने वाले कई क्षेत्र हैं।

पाक के नए नेतृत्व के समक्ष आतंकवाद का मुद्दा उठाएंगे पोम्पिओ : रिपोर्ट

भारत में उत्तर, दक्षिण और पश्चिम भागों में विकास हुआ लेकिन पूर्वी भाग को अभी भी तीव्र वृद्धि करने की जरूरत है। इस मौके पर आयोग के कार्यवाहक अध्यक्ष सुधीर मित्तल, कंपनी मामलों के सचिव इंजेति श्रीनिवास, आयोग के सदस्य, वरिष्ठ अधिकारी और वकील भी मौजूद थे। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.