भारत डब्ल्यूटीओ में सुधार को लेकर अन्य देशों के साथ मिलकर काम करेगा: प्रभु

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 11:54:44 AM
India will work with other countries to improve the WTO: prabhu

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने शुक्रवार को कहा कि भारत विश्व व्यापार संगठन ( डब्ल्यूटीओ ) में सुधार को लेकर अन्य देशों के साथ मिलकर काम करेगा। इसका मकसद यह सुनिश्चित करना है कि संगठन वैश्विक व्यापार के लिए इंजन बना रहे। कुछ देशों द्बारा संरक्षणवादी उपाय अपनाए जाने से बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। जी - 20 सदस्य देशों के व्यापार और निवेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए प्रभु अर्जेन्टीना में है। उन्होंने कहा कि स्वीकार्य सुधार एजेंडा को आगे बढ़ाने को लेकर सभी सदस्य देशों के साथ मिलकर काम करने के लिए भारत का नजरिया सकारात्मक है।

दक्षिणपंथी संगठनों ने सलमान की 'लवरात्रि’ पर हिंदू उत्सव के नाम को विकृत करने का लगाया आरोप, सलमान ने दिया ये जवाब

वाणिज्य मंत्रालय ने प्रभु के हवाले से एक बयान में कहा, जी-20 मंच के जरिए भारत इस विचार को मिशन मोड में आगे बढ़ाएगा। जी - 20 बैठक में प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इसमें वैश्विक मूल्य श्रृंखला, नई औद्योगिक क्रांति तथा अंतरराष्ट्रीय व्यापार परिदृश्य समेत अन्य मुद्दे शामिल हैं। कुछ देशों द्बारा संरक्षणवादी उपाय अपनाए जाने से बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। 

गर्लफ्रेंड को खुश करने के लिए डेयरी मिल्क के साथ दे रिलायंस जियो का फ्री 1जीबी 4जी डाटा

जी - 20 के सदस्यों में यूरोपीय संघ, अर्जेन्टीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया, मेक्सिको, रूस, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, अमेरिका, ब्रिटेन, भारत और सऊदी अरब हैं। कुल अंतरराष्ट्रीय व्यापार में जी - 20 सदस्य देशों की हिस्सेदारी 75 प्रतिशत है। - एजेंसी 

इजरायल पर्यटन के लिए तीन साल में पांच शीर्ष बाजारों में शामिल हो सकता है भारत

देश में विलुप्त हुए चीता को मध्यप्रदेश की नौरादेही वन्यजीव अभयारण्य में बसाने की कवायद फिर शुरू

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.