इंडियन बैंक का चौथी तिमाही का एकल शुद्ध लाभ घटकर हुआ 132 करोड़ रुपए

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 12:39:35 PM
Indian Banks fourth quarter net profit fell to Rs 132 crore

चेन्नई। सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन बैंक का बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही का एकल शुद्ध लाभ 59 प्रतिशत घटकर 131.98 करोड़ रुपए पर आ गया। आलोच्य तिमाही में बैंक का डूबे कर्ज की वजह से दर्ज नुकसान तीन गुना हो गया है जिससे उससे मुनाफ़े में कमी आई है। 
इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक ने 319.70 करोड़ रुपए का एकल शुद्ध लाभ कमाया था। पूरे वित्त वर्ष 2017-18 में बैंक का मुनाफा 11 प्रतिशत घटकर 1,258.99 करोड़ रुपए रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 1,405.67 करोड़ रुपए था। 

फ्लिपकार्ट के सीईओ ने अपने विक्रेताओं को किया आश्वस्त

इंडियन बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी किशोर खरात ने कहा, चौथी तिमाही में मुनाफा घटने की प्रमुख वजह भारतीय रिजर्व बैंक का सर्कुलर है। लगभग सभी बैंकों में रिजर्वेशन वाले खातों की वजह से ऐसा है। रिजर्वेशन योजना को वापस लेने की वजह से इन खातों को डाउनग्रेड किया गया है। तिमाही के दौरान बैंक की कुल आय बढ़कर 4,954.20 करोड़ रुपए हो गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 4,601.89 करोड़ रुपए थी। 

कर्नाटक चुनाव के समय पेट्रोल-डीजल की कीमतें नहीं बढ़ना संयोग: आईओसी

तिमाही के दौरान बैंक की गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) मामूली घटकर 7.47 से 7.37 प्रतिशत पर आ गईं। हालांकि, इस दौरान बैंक का डूबे कर्ज के लिए प्रावधान तीन गुना हो गया। बैंक ने तिमाही के दौरान 1,546.33 करोड़ रुपए प्रावधान और आकस्मिक खर्चों के लिए रखे, जो एक साल पहले समान अवधि में 806.91 करोड़ रुपए था। तिमाही के दौरान बैंक का डूबे कर्ज के लिए प्रावधन तीन गुना होकर 1,772.03 करोड़ रुपए हो गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 608.42 करोड़ रुपए था। 

इस अवधि में बैंक का शुद्ध एनपीए भी घटकर 3.81 प्रतिशत रह गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 4.39 प्रतिशत था। मुनाफ़े में गिरावट के बावजूद बैंक के निदेशक मंडल ने 10 रुपए अंकित मूल्य के शेयर पर छह रुपए प्रति शेयर या 60 प्रतिशत के लाभांश की सिफारिश की है। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.