Ilfs के बचाव में आगे आया जीवन बीमा निगम, बोर्ड ने पुनरूत्थान योजना को दी मंजूरी

Samachar Jagat | Sunday, 16 Sep 2018 10:03:25 AM
Life Insurance Corporation came forward in defense of Ilfs, Board approved the revival plan

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मुंबई। नकदी संकट से जूझ रही इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सविर्सेज (आईएल एण्ड एफएस) के निदेशक मंडल की शनिवार को आपात बैठक हुई जिसमें कंपनी को मौजूदा नकदी संकट से उबारने के तौर तरीकों पर विचार किया गया। आईएल एण्ड एफएस निदेशक मंडल की हुई आपात बैठक में समझा जाता है कि उसके सबसे बड़े शेयरधारक भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने कंपनी के आगामी राइट इश्यू में निवेश करने और कंपनी को कुछ कार्यशील पूंजी कर्ज देने पर सहमति जताई है। आईएल एण्ड एफएस में एलआईसी की 25.34 प्रतिशत हिस्सेदारी है। 

सोलर ट्रैकिंग सिस्टम के लिए जर्मनी और भारत की कंपनी के बीच संयुक्त उद्यम 

इस बीच सूत्रों ने बताया कि एलआईसी के प्रबंध निदेशक हेमंत भार्गव ने आईएल एण्ड एफएस के गैर-कार्यकारी चेयरमैन पद से तुरंत प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि वह उसके बोर्ड में निदेशक के तौर पर बने रहेंगे। जानकारी के मुताबिक आईएलएफएस ने एलआईसी के पूर्व चेयरमैन एस बी माथुर को नया गैर-कार्यकारी चेयरमैन नियुक्त किया है। कंपनी को अपने शेयरधारकों से 3,000 करोड़ रुपए की त्वरित पूंजी की आवश्यकता है। 

निर्यात में अगस्त महीने में तीन माह की सर्वाधिक वृद्धि, व्यापार घाटा 17.4 अरब डालर 

आईएल एण्ड एफएस के प्रमुख शेयरधारकों, एलआईसी, स्टेट बैंक और एचडीएफसी ने कंपनी की इससे पहले हुई बैठक में शर्त रखी थी कि कंपनी में कोई भी नया धन देने से पहले कंपनी को अपनी संपत्तियों अथवा गैर-प्रमुख व्यवसाय के जरिये धन जुटाना होगा। 

गिरते रुपये, बढ़ते चालू खाता घाटे को काबू में रखने के लिये गैर-जरूरी आयात पर लगेगी पाबंदी 

टाटा मोटर्स फेस्टिव सीजन में पेश करेगी Tiago का JTP एडिशन, जानें कीमत और फीचर्स 

4जी डाउनलोड स्पीड के मामले में सातवें महीने भी जियो अव्वल, अपलोड स्पीड में एयरटेल ने मारी बाजी 

प्रभु ने भारत में कारोबार के अवसर तलाशने के लिए रूसी कंपनियों को आमंत्रित किया

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.