जीएसपीसी अगले 2-3 महीने में तैयार कर लेगी मुंद्रा एलएनजी टर्मिनल

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 05:11:37 PM
Mundra LNG terminal will be ready in next 2-3 months

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉर्प (जीएसपीसी) गुजरात के मुंद्रा में अगले दो से तीन महीने में एक द्रवीकृत गैस (एलएनजी) आयात टर्मिनल तैयार कर लेगी। इसकी क्षमता प्रति वर्ष 50 लाख टन एलएनजी आयात की होगी। कंपनी के प्रबंध निदेशक जगदीप नारायण सिंह ने कहा कि मुंद्रा गुजरात का ऐसा तीसरा बंदरगाह होगा जो क्रायोजेनिक जलपोतों में एलएनजी का आयात कर सकेगा और उपभोक्ताओं को पाइपलाइन के जरिये आपूर्ति से पहले इसे गैसीय अवस्था में बदला जा सकेगा।

जेएलआर की वैश्विक बिक्री जून में 0.9% बढ़ी

उन्होंने कहा कि अडाणी समूह के साथ मिलकर परियोजना पर काम कर रही जीएसपीसी समूह की सहयोगी इकाई जीएसपीएल एलएनजी लिमिटेड टर्मिनल का परिचालन पूरी तरह से शुरू हो जाने के बाद इसमें इंडियन ऑयल कॉर्प जैसा रणनीतिक भागीदार जोड़ेगी। सिंह ने कहा, ''हम मुंद्रा टर्मिनल को अगस्त के अंत तक या सितंबर के मध्य तक तैयार कर लेंगे। पहले साल डेढ साल इसमें 15 लाख टन एलएनजी का आयात होगा और उसके बाद यह पूरी क्षमता हासिल कर लेगा।"

मुंद्रा टर्मिनल की क्षमता को भविष्य में हर साल एक करोड टन सालाना तक बढ़ाया जा सकेगा। यह टर्मिनल इस तरह बनाया गया है कि इसमें 75,000 घनमीटर से लेकर 2,60,000 घनमीटर क्षमता का एलएनजी टेंकर माल लेकर आ सकता है। इसमें प्रत्येक 1,60,000 घनमीटर क्षमता के दो एलएनजी भंडारण टेंकर बनाये गये हैं जिनमें द्रवीकृत एलएनजी को गैस में परिवर्तित करने की सुविधा है।

श्वेत क्रांति लाने में सबसे अधिक सहयोग करने वाले किसानों को दिया जाएगा नन्द बाबा पुरस्कार

उन्होंने कहा कि कंपनी ने टर्मिनल का परिचालन शुरू करने के बाद रणनीतिक भागीदार खोजने का निर्णय लिया है। गुजरात में पहले से ही डेढ करोड टन क्षमता का पेट्रोनेट एलएनजी टर्मिनल दहेज में स्थापित है जबकि शैल द्वारा संचालित 50 लाख टन सालाना क्षमता का एक अन्य टर्मिनल हजीरा में है।- एजेंसी

ये हैं आज के सोने और चांदी के दाम, जानिए 

होटल, रेस्तरांओं के लिए मिला-जुला रहा जीएसटी का पहला साल, दरें तर्कसंगत बनाने की जरूरत

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.