शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 10 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंचा

Samachar Jagat | Tuesday, 19 Mar 2019 03:22:24 PM
Net direct tax collection crosses Rs. 10 lakh crore

नई दिल्ली। शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 16 मार्च तक 10 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया। कर की चौथी और अंतिम अग्रिम किश्त का भुगतान प्राप्त होने से कर संग्रह इस स्तर पर पहुंचा है। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। हालांकि, पूरे देश से अग्रिम कर संग्रह का आंकड़ा आना अभी बाकी है। उन्होंने बताया कि प्राथमिक आकलन बताता है कि शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 10 लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार कर चुका है। पूरे वित्त वर्ष के दौरान 12 लाख करोड़ रुपए के प्रत्यक्ष कर संग्रह का लक्ष्य रखा गया है।

जेट एयरवेज की उड़ानों की सुरक्षा जोखिम पर, कंपनी के कर्मचारियों ने डीजीसीए को दी सूचना

वित्त वर्ष 2018-19 की अप्रैल-जनवरी अवधि में शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 7.89 लाख करोड़ रुपए रहा था। सरकार ने पहले चालू वित्त वर्ष में 11.5 लाख करोड़ रुपये के प्रत्यक्ष कर संग्रह का अनुमान रखा था। लेकिन वित्त वर्ष 2019-20 के अंतरिम बजट में इसे संशोधित किया गया और लक्ष्य को 50,000 करोड़ रुपए और बढ़ा दिया गया। पिछले हफ्ते आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा था, प्रत्यक्ष कर संग्रह के मोर्चे पर हम लक्ष्य पाने को लेकर आश्वस्त हैं।

रंगों से सजी गुलाबी नगरी, जगह-जगह लगी पिचकारी और रंगों की दुकान

लेकिन अप्रत्यक्ष कर संग्रह में कूछ कमी आ सकती है। सरकार ने अंतरिम बजट में सीमाशुल्क संग्रह लक्ष्य को संशोधित कर 1.12 लाख करोड़ रुपए से 1.30 लाख करोड़ रुपए कर दिया था। वहीं माल एवं सेवाकर (जीएसटी) संग्रह के लक्ष्य को 6.43 लाख करोड़ रुपए कर दिया। यह पूर्व में लक्षित 7.43 लाख करोड़ रुपए के अनुमान से कम है। हालांकि, अगले वित्त वर्ष में जीएसटी संग्रह बढ़कर 7.61 लाख करोड़ रुपए होने की उम्मीद जताई गई है। -एजेंसी

SBI ने शुरू की योनो कैश सेवा, अब ग्राहक बिना कार्ड के इस्तेमाल के आसानी से निकाल सकेंगे पैसे
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.