मिस्त्री को नहीं मिला टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशकों ने सर्वसम्मत समर्थन

Samachar Jagat | Tuesday, 15 Nov 2016 04:23:06 AM
मिस्त्री को नहीं मिला टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशकों ने सर्वसम्मत समर्थन

नई दिल्ली। साइरस मिस्त्री को झटका देते हुए टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशकों ने आज कहा कि कंपनी के निदेशक मंडल ने उनके नेतृत्व को सर्वसम्मति से समर्थन नहीं दिया था। स्वतंत्र निदेशकों ने कहा कि छोटी कार नैनो सहित अन्य सभी फैसलों पर उन्होंने कंपनी का समर्थन किया था। टाटा संस के हटाए गए चेयरमैन मिस्त्री ने नैनो पर फैसले को लेकर कंपनी की आलोचना की थी।

मिस्त्री को जहां इंडियन होटल्स कंपनी तथा टाटा केमिकल्स की बैठक में स्वतंत्र निदेशकों का जैसा समर्थन मिला था, टाटा मोटर्स के बोर्ड की बैठक में वह नजर नहीं आया। वाहन कंपनी ने पांच घंटे तक चली बैठक के बाद जो बयान जारी किया है उससे पता चलता है कि इस बैठक में मिस्त्री को सर्वसम्मत समर्थन नहीं मिला।

टाटा और मिस्त्री के बीच बढ़ते विवाद तथा टाटा संस द्वारा मिस्त्री को समूह की अन्य कंपनियों से हटाए जाने के फैसले के मद्देनजर आज की बैठक महत्वपूर्ण थी। टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद भी मिस्त्री समूह की कई अन्य कंपनियों के चेयरमैन पर पर कायम हैं। इनमें टाटा मोटर्स, टाटा केमिकल्स और आईएचसीएल शामिल हैं।

देश की शीर्ष वाहन कंपनी ने बयान कहा, ‘‘टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशकों की आज हालिया घटनाक्रमों के प्रभाव की समीक्षा व उन पर विचार करने के लिए बैठक हुई। इस बैठक में मीडिया में आई संचालन, प्रबंधन तथा कंंपनी के कारोबार संबंधी रपटों की भी समीक्षा की गई।’’

स्वतंत्र निदेशकों ने इस बात की पुष्टि की कि बोर्ड द्वारा रणनीति, परिचालन तथा कंपनी के कारोबार के बारे में जो भी फैसले लिए गए वे सर्वसम्मति से थे। कंपनी के चेयरमैन और प्रबंधन ने इसी के अनुरूप उनका क्रियान्वयन किया।

स्वतंत्र निदेशकों ने इस बात को भी दोहराया कि कंपनी का संचालन, निगरानी और प्रबंधन बोर्ड के निर्देशन में किया जा रहा है।

इसमें कहा गया है कि कंपनी और उसकी अनुषंगियों के प्रबंधन को स्वतंत्र निदेशकों का पूरा भरोसा और समर्थन है। कंपनी का यह बयान आईएचसीएल तथा टाटा केमिकल्स के रख से भिन्न है जिनके स्वतंत्र निदेशकों ने मिस्त्री का सर्वसम्मति से समर्थन किया था।

सूत्रों ने बताया कि एक स्वतंत्र निदेशक ने मिस्त्री को समर्थन का प्रस्ताव किया, लेकिन विचार विमर्श के बाद इस प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ाया गया। अन्य स्वतंत्र निदेशकों ने इसका समर्थन नहीं किया, जो बोर्ड में मिस्त्री को समर्थन को लेकर मतभेदों को दर्शाता है।

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.