नोटबंदी से म्यूचुअल फंड में निवेश बढऩे की उम्मीद

Samachar Jagat | Monday, 21 Nov 2016 02:33:08 PM
  नोटबंदी से म्यूचुअल फंड में निवेश बढऩे की उम्मीद

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड उद्योग को उम्मीद है कि सरकार के नोटबंदी के कदम के बाद वित्तीय उत्पादों में निवेश बढ़ेगा और खुदरा और बड़े (एचएनएआई) निवेशकों से लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपए का निवेश आएगा। 

म्यूचुअल फंड विशेषज्ञों का मानना है कि नोटबंदी से मुद्रास्फीति नरम होगी, सरकार की वित्तीय स्थिति मजबूत होगी और आने वाली तिमाहियों में ब्याज दर घटाने में मदद मिलेगी। इससे निवेशक म्यूचुअल फंड आदि में निवेश को प्रोत्साहित हो सकते हैं। 

मोतीलाल ओसवाल असेट मैनेजमेंट कंपनी के सीईओ आशीष सोमैया ने कहा,‘नोटबंदी के बाद 2-3 तिमाहियों में इक्विटी बाजार में काफी तेजी का रुख देखने को मिल सकती है। निवेश के रूप में रीयल एस्टेट और सोने के केंद्र में रहने के कारण म्यूचुअल फंडों को फायदा मिलने की उम्मीद है। 

उल्लेखनीय है कि सरकार ने नोटबंदी के तहत 500 रपये और 1000 रुपए के मौजूदा नोटों को चलन से बाहर कर दिया है।


 डीएचएफएल प्रामेरिका एएमएसी के सीआईओ (इक्विटीज) ई. ए. सुंदरम ने कहा, ‘देश में कुल वित्तीय बचत में मुद्रा नोटों का हिसा 9 पर्सेंट है जिसे ध्यान में रखते हुए यह उम्मीद की जा सकती है कि पूंजी बाजार आस्तियों का हिस्सा बढ़ेगा।’  


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.