नोटबंदी जटिल मुद्दा, आरबीआई-नेपाल राष्ट्र बैंक में बातचीत: विदेश सचिव

Samachar Jagat | Saturday, 12 May 2018 05:26:21 PM
note ban issue, RBI-Nepal talks in Nation bank: Foreign Secretary

काठमांडो। भारत और नेपाल के केंद्रीय बैंक नोटबंदी के दौरान बंद किए गए भारतीय मुद्रा नोटों को बदलने से जुड़े ‘तकनीकी मुद्दों’ पर विचार विमर्श कर रहे हैं। विदेश सचिव विजय गोखले ने शनिवार को यह जानकारी दी और उम्मीद जताई कि दोनों देशों के केंद्रीय बैंक इस मुद्दे को सुलझा लेंगे।

मार्च में 4.4 प्रतिशत बढ़ा औद्योगिक उत्पादन सूचकांक

गोखले ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमारा रिजर्व बैंक और उनका नेपाल राष्ट्र बैंक इस पर विचार कर रहा है। हमें यह समझना होगा कि यह बहुत ही जटिल मुद्दा है और नोटबंदी के बाद काफी समय गुजर चुका है। नोटबंदी की घोषणा 2016 में हुई थी जबकि अभी 2018 है। उन्होंने कहा कि कुछ तकनीकी मुद्दे हैं जिन्हें केवल केंद्रीय बैंक ही सुलझा सकते हैं।

बातचीत जारी है। गौरतलब है कि नेपाल के प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा ओली ने कल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि उसके बैंकों और आम जनता को पुराने भारतीय नोटों को बदलने की सुविधा जल्द से जल्द प्रदान की जाए। प्रधानमंत्री मोदी ने 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा की जिसके तहत 500 और 1000 रुपए के नोटों का प्रचलन बंद कर दिया गया।

भारतीय मुद्रा नोटों का नेपाल में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल दैनिक लेन-देन में होता है। नेपाल के केंद्रीय बैंक, नेपाल राष्ट्रीय बैंक के मुताबिक लगभग 3.36 करोड़ भारतीय रुपए इस समय नेपाली बैंकिंग प्रणाली में हैं।

बैंकों को वित्त पोषण से पहले आभूषण क्षेत्र को समझना चाहिए: प्रभु

ओली ने द्विपक्षीय वार्ता के बाद मीडिया से कहा कि मैंने मोदी से नेपाली बैंकिंग प्रणाली और आम लोगों के पास पड़े पुराने ( प्रचलन से बाहर ) भारतीय मुद्रा नोटों को बदलने की सुविधा जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का आग्रह किया। मार्च में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने घोषणा की थी कि नेपाल को नोट बदलने की सुविधा जल्द प्राप्त होगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.