ओएनजीसी अपने कारोबार एकीकरण के लिये योजना तैयार करेगी

Samachar Jagat | Thursday, 01 Nov 2018 05:27:39 PM
ONGC will prepare a plan for its business integration

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ओएनजीसी हाल में अधिग्रहीत एचपीसीएल और पेट्रोरसायन इकाई को अपने मुख्य कारोबार पेट्रोलियम एवं गैस अन्वेषण परिचालन के साथ जोडऩे के लिये योजना बनायेगी। कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक शशि शंकर ने यह बात कही। ओएनजीसी की रिफाइनिंग कारोबार और पेट्रोरसायन कारोबार को अपने मुख्य कारोबार के साथ एकीकृत करने की इच्छुक है ताकि इनका पूरा लाभ उठाया जा सके।

एयरसेल-मैक्सिस मामला: चिदंबरम पिता-पुत्र को अदालत से 26 नवंबर तक मिली गिरफ्तारी से छूट

शंकर ने कहा, "हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) के अधिग्रहण और गुजरात के दाहेज में ओपीएएल पेट्रोरसायन संयंत्र शुरू होने के बाद कंपनी इनके एकीकरण से उचित सहयोग हासिल करने के लिये योजना तैयार कर रही है ताकि दक्षता को बढ़ाया और लागत को अनुकूल बनाया जा सके।" ओएनजीसी ने इस वर्ष वर्ष की शुरुआत में एचपीसीएल में सरकार की पूरी 51.11 प्रतिशत हिस्सेदारी 36,915 करोड़ रुपये में खरीदी है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत, दक्षिण कोरिया के बीच पर्यटन क्षेत्र में एमओयू पर हस्ताक्षर को मंजूरी दी

इससे उसके पोर्टफोलियो में तेल परिशोधन क्षमता 2.38 करोड़ टन सालाना बढ़ गयी। रिलायंस इंडस्ट्रीज और इंडियन आयल के बाद ओएनजीसी देश की तीसरी सबसे बड़ी रिफाइनरी कंपनी बन गया है। ओएनजीसी पहले ही मंगलूर रिफाइनरी एण्ड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड में बहुलांश हिस्सेदारी रखती है। इसकी रिफाइनिंग क्षमता डेढ करोड टन है। - एजेंसी

‘महिलाओं पर केंद्रित फिल्म’ शब्द का तब तक इस्तेमाल होगा जब तक ऐसी फिल्में आम न हो जाएं: ऋचा चड्ढा

Bigg Boss 12: क्या विकास और शिल्पा की वजह से घर में आमने सामने हुए श्री संत और करणवीर? पढ़े पूरी खबर



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.