पतंजलि गाय के दूध के कारोबार में, कंपनी का अगले वित्तवर्ष में 1,000 करोड़ रुपए की बिक्री का लक्ष्य

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 09:54:08 AM
Patanjali cow milk business, the company aims to sell 1,000 million rupees in next financial year

नई दिल्ली। बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद ने गुरुवार को गाय दूध और गाय दूध आधारित डेयरी उत्पादों को पेश करके गाय के दूध के कारोबार में प्रवेश की घोषणा की और कंपनी की वित्त वर्ष 2020 तक 1,000 करोड़ रुपए की बिक्री करने का लक्ष्य कर रही है।

हरिद्बार स्थित इस कंपनी ने पैकबंद पेयजल, जमी हुए सब्जियां, किसी यूरिया के बिना मवेशी चारा और सौर पैनल जैसे प्रमुख उत्पादों के क्षेत्र में भी आक्रामक ढंग से प्रवेश किया है। पतंजलि दिल्ली एनसीआर, राजस्थान, महाराष्ट्र के मुंबई और पुणे क्षेत्रों में लगभग 56,000 खुदरा विक्रेताओं के नेटवर्क के साथ गाय के दूध की आपूर्ति करेगा, जो रोजाना चार लाख लीटर दूध का वितरणर करेगी।

बाबा रामदेव ने यहां पेशकश के मौके पर मीडिया से कहा कि हम अगले वित्त वर्ष में 1000 करोड़ रुपए का कारोबार करने का लक्ष्य रख रहे हैं। इस वित्त वर्ष में, हमारे पास 500 करोड़ रुपए का कारोबार होगा। कंपनी का वित्त वर्ष 2019-20 तक रोजाना लगभग 10 लाख लीटर गाय दूध की दैनिक बिक्री का स्तर को छूने का लक्ष्य है।

रामदेव ने कहा कि हमने गत दो सालों में अपने स्वयं के संग्रह केंद्रों और दूध ठंडा करने वाले केंद्रों की एक श्रृंखला स्थापित की है। कंपनी सीधे अपने नेटवर्क के माध्यम से लगभग एक लाख किसानों से दूध खरीद करेगी और उन्हें स्वदेशी गाय नस्लों को पालने के लिए प्रोत्साहित करेगी। पतंजलि किसानों के बैंक खातों में सीधे धन का हस्तांतरण कर रही है।

रामदेव ने कहा कि हमारा दूध अन्य स्थापित ब्रांडों की तुलना में 2 रुपए प्रति किलोग्राम सस्ता यानी 40 रुपए प्रति लीटर होगा। नियमित दूध के अलावा, पतंजलि अपने कवरेज क्षेत्र से परे ओर विशिष्ट खंड को लक्षित करने के लिए टेट्रा पैक में दूध और हर्बल स्वादयुक्त दूध और अन्य मूल्यवर्धित उत्पादों को भी पेश करेगा।

गाय दूध खंड में पतंजलि के प्रवेश पर टिप्पणी करते हुए, दिल्ली एनसीआर में बड़ी प्रति उपस्थिति वाली प्रतिद्बन्द्बी मदर डेयरी ने इस कदम का स्वागत किया और कहा कि इससे किसानों की मदद मिलेगी। मदर डेयरी फल और सब्जियां प्राइवेट लिमिटेड के एक प्रवक्ता ने कहा कि एक श्रेणी निर्माता और अग्रणी कंपनी के रूप में, हम पतंजलि समेत सारी प्रतिस्पर्धा का स्वागत करते हैं, क्योंकि हम मानते हैं कि उनके इस कदम से गाय दूध के गुणों के बारे में और ग्रामीण अर्थव्यवस्था और किसानों पर इसके प्रभावों के बारे में जागरूकता बढ़ाने में और मदद मिलेगी।

इसके अलावा, पतंजलि ने उत्तरी और पश्चिमी बाजार में अपने पैकेज किए गए पेयजल ब्रांड 'दिव्य जल' को भी पेश किया। कंपनी की प्राकृतिक खनिज युक्त पानी और जड़ी-बूटियों युक्त पानी को पेश करने की भी योजना है। इसके अलावा, कंपनी जमे हुए सब्जी खंड में भी प्रवेश किया है। रामदेव ने कहा कि हमारे उत्पाद हमारे प्रतिद्बंद्बियों की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत सस्ता होंगे। बगैर यूरिया वाले पशुचारा खंड में, कंपनी ने 'पतंजलि दुग्धामृत' ब्रांड पेश किया है।

सौर पैनल खंड में, पतंजलि ने 60 मेगावाट के उत्पादन करने वाले पैनलों का निर्माण शुरू कर दिया है। हाल के वर्षों में पतंजलि ने कई गुना वृद्धि दर्ज की है। जीएसटी व्यवस्था के शुरु होने के बाद उसका कारोबार थोड़ा प्रभावित हुआ और पिछले वित्त वर्ष में उसे मामूली वृद्धि देखने को मिली। वित्तवर्ष 2016-17 में पतंजलि ने 10,561 करोड़ रुपए का कारोबार किया था, और इस प्रकार 111 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की थी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.