बिजली मंत्रालय का कोयला आयात करने की अनुमति देना अस्थायी फैसला: गोयल

Samachar Jagat | Monday, 30 Jul 2018 03:30:22 PM
Permission for import of coal from the power ministry

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कोलकाता। कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि केंद्रीय बिजली मंत्रालय का राज्यों को कोयला आयात करने की अनुमति देने का निर्णय अस्थायी है। ईंधन की कमी के कारण केंद्रीय बिजली मंत्रालय द्वारा राज्यों को कोयले के आयात के लिए कहे जाने के बारे में पूछे जाने पर गोयल ने कहा, हम निरंतर उत्पादन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। राज्यों को कोयले के आयात की अनुमति अस्थायी तौर पर दी गई है।

चालू वित्तवर्ष की पहली तिमाही में 1.14 प्रतिशत कम हुआ एनटीपीसी का एकल शुद्ध मुनाफा

केंद्रीय बिजली मंत्री आर के सिंह ने हाल ही में बिजली संयंत्रों में अगले दो-तीन साल के दौरान कोयले की कमी को लेकर आगाह किया और राज्यों को ईंधन आयात की अनुमति दी। गोयल ने कहा कि कोल इंडिया द्वारा कोयला उत्पादन और उसकी आपूर्ति में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि मांग में अचानक वृद्धि को पूरा करने के लिए अंतर को पाटने को लेकर आयात की जरूरत हो सकती है। उन्होंने कहा कि कोयला उत्पादन में जून 2018 को समाप्त तिमाही में 15.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह 13.69 करोड़ टन रहा।

देश छोड़कर भागने वाले धोखेबाजों पर लगाम लगाने के लिए पासपोर्ट कानून में बदलाव की सिफारिश

वहीं बिजली संयंत्रों की आपूर्ति तिमाही के दौरान 15.4 प्रतिशत बढ़कर 12.28 करोड़ टन तक पहुंच गई। यही वजह रही कि बिजली उद्योग में इस साल अप्रैल- मई के दौरान कोयला आयात में करीब 15 प्रतिशत तक कमी आई है। कोल इंडिया के एक अधिकारी ने कहा कि कंपनी अनुकूलतम बिजली उत्पादन के लिए बिजली इकाइयों की मांग और उनके पास उपलब्ध भंडार के आधार पर कोयले की आपूर्ति युक्तिसंगत बनाने की कोशिश कर रही है। - एजेंसी 

सस्ते मकानों पर जोर दिए जाने से घर खरीदारों का बढ़ा आकर्षण: रिपोर्ट

निर्यात क्षेत्र को कर्ज के मामले में प्राथिमक क्षेत्र का दर्ज़ा मिलना चाहिए: प्रभु

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.