पीएनबी धोखाधड़ी: आरबीआई ने शुरु किया सरकारी बैंकों का विशेष ऑडिट

Samachar Jagat | Sunday, 11 Mar 2018 03:30:41 PM
PNB fraud: RBI starts special audit of government banks

नई दिल्ली। बैंकों में धोखाधड़ी के मामलों से परेशान भारतीय रिजर्व बैंक( आरबीआई) ने सरकारी बैंकों के विशेष ऑडिट की प्रक्रिया शुरु की है। इस ऑडिट में मुख्य ध्यान व्यापारिक गतिविधियों के वित्तपोषणऔ बैंकों द्वारा जारी किए जाने वाले गारंटी पत्रों( एलओयू) पर दिया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि आरबीआई ने सभी बैंकों से उनके द्वारा जारी किए गए एलओयू की जानकारी मांगी है।

एफपीआई ने पूंजी बाजारों से निकाले 6,000 करोड़ रुपए

इसमें बकाया राशि की जानकारी भी मांगी गई है। आरबीआई यह भी देखेगा कि बैंकों के पास ऋण सीमा की पहले से अनुमति थी या नहीं और गारंटी पत्र जारी करने से पहले उनके पास पर्याप्त नकद मार्जिन उपलब्ध था या नहीं। सूत्रों ने पीटीआई- भाषा से कहा कि हाल में उजागर पंजाब नेशनल बैंक-नीरव मोदी धोखाधड़ी मामले समेत अधिकतर बड़े बैंकिंग धोखाधड़ी मामले व्यापार वित्तपोषण से जुड़े हैं। इसके अलावा जानबूझ कर ऋण नहीं चुकाने के भी कई मामले व्यापार वित्त पोषण से जुड़े रहे हैं।

पीएनबी धोखाधड़ी की क्षति सीमित करनी जरूरी:एसोचैम

हाल में पीएनबी के साथ किए गए 12,646 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में भी एलओयू का इस्तेमाल किया गया। इसे ध्यान में रखते हुए आरबीआई इस ऑडिट में इनसे जुड़े मामलों की भी जांच करेगा। उल्लेखनीय है कि नीरव मोदी का मामला सामने आने के तुरंत बाद सीबीआई ने दिल्ली के हीरा निर्यातक द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल के खिलाफ भी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में 389.85 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था।

मैक्रों के वाराणसी दौरे से बुनकरों एवं होटल व्यवसाय को बेहतरी की उम्मीद

द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल ने 2007- 12 के बीच ओबीसी से विभिन्न प्रकार की रिण सुविधायें ली थीं।  इसी प्रकार 2015 के बैंक बाफ बड़ौदा धोखाधड़ी मामले में भी दिल्ली के दो व्यावसायियों ने बैंकों को व्यापार वित्तपोषण प्रणाली का इस्तेमाल करते हुये 6,000 करोड़ रुपये का चूना लगाया था।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.