प्रभु ने देश में विमान बनाने के लिए अमेरिका की मदद मांगी

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 12:19:33 PM
prabhu sought US help to build aircraft in the country

मुंबई। नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने देश में असैन्य व रक्षा विमान बनाने के लिए अमेरिका से सहयोग मांगा। प्रभु ने यहां छठे भारत - अमेरिका विमानन सम्मेलन में कहा, अमेरिका विमानन क्षेत्र में अग्रणी है और हमें असैन्य व रक्षा विमानों का घरेलू स्तर पर विनिर्माण करने के लिए उनके साथ गठजोड़ कर खुशी होगी। मंत्री ने कहा कि इस तरह के सहयोग से अमेरिकी कंपनियों के लिए भी बड़े कारोबारी अवसर मिलेंगे जो कि पहले ही भारत में मौजूद हैं। 

फ्लिपकार्ट के सीईओ ने अपने विक्रेताओं को किया आश्वस्त

उन्होंने कहा, साझा हितों के अनेक ऐसे क्षेत्र हैं जिन पर हमें विचार-विमर्श करना होगा कि हम यात्री व रक्षा विमान यहां स्थानीय स्तर पर कैसे बना सकते हैं, हम अपने अमेरिकी भागीदारों से गठजोड़ में ड्रोन कैसे बनाएंगे। सम्मेलन को अमेरिका के राजदूत कैनेथ जस्टर ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने मिलकर विमानन सहित अनेक क्षेत्रों में काफी प्रगति की है। 

कर्नाटक चुनाव के समय पेट्रोल-डीजल की कीमतें नहीं बढ़ना संयोग: आईओसी

उन्होंने कहा कि भारत-अमेरिका विमानन सहयोग कार्यक्रम के सदस्यों की संख्या बढ़कर 30 हो चुकी है जो कि दस साल पहले इसकी शुरुआती के समय 10 थी। जस्टर के अनुसार अमेरिका भारत में निजी व सरकारी क्षेत्रों में अपने काम के और विस्तार को लेकर प्रतिबद्ध है। नागर विमानन सचिव आर एन चौबे ने कहा कि सरकार एक परामर्श नियुक्त करने की सोच रही है ताकि नागर विमानन महानिदेशालय में वैश्विक सहयोगी संगठनों के साथ प्रक्रिया को सुगम बनाया जाए। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.