संकट में निजी निवेश, रोजगार सृजन रुका: चिदंबरम

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 12:42:47 PM
Private investment in crisis, job creation halted: Chidambaram

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति को लेकर आज सरकार को फिर से घेरा और आरोप लगाया कि निजी निवेश संकट में है और रोजगार के नए अवसर भी पैदा नहीं हो रहे हैं।

सेंसेक्स में आया 61 अंक का उछाल, निफ्टी पहुंचा 10,809 के स्तर पर

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ''उद्योग के लिए क्रेडिट वृद्धि नहीं होने या कम क्रेडिट वृद्धि का अर्थ है कि निजी निवेश संकट में है और नौकरियां पैदा नहीं हो रही हैं। क्या कोई इससे इनकार कर सकता है?’’ उन्होंने कहा, ''सितंबर 2016 और अप्रैल 2018 के बीच उद्योग के लिए क्रेडिट वृद्धि 20 महीनों में से 13 में नकारात्मक थी।’’

तो यहा छुपकर बैठा है घोटालेबाज नीरव मोदी, इस देश ने की पुष्टी

चिदंबरम ने कहा, ''शेष 7 महीनों में औसत मासिक क्रेडिट वृद्धि दर 1.1फीसदी थी। अब आप समझ गए होंगे कि युवाओं को संगठित औद्योगिक क्षेत्र में स्थायी नौकरियां क्यों नहीं मिल पा रही है।’’ चिदंबरम ने कल दावा किया था कि अर्थव्यवस्था के चार टायरों में से तीन टायर- निर्यात, निजी निवेश और निजी उपभोग, पंक्चर हो चुके हैं।

लैंड रोवर थ्री-डोर रेंज रोवर इवोक को बंद करके पेश करेगी 5-डोर इवोक और कन्वर्टिबल इवोक

चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा था कि सिर्फ़ सरकारी ख़र्च रूपी 'टायर’ चल रहा है, लेकिन चालू खाता घाटे और वित्तीय घाटे की वजह से इस पर भी दबाव बढ़ रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि यह स्थिति सरकार की नीतिगत ग़लतियों और ग़लत क़दमों के कारण पैदा हुई है। बता दें  पी चिदंबरम ने सोमवार को पेट्रोल-डीजल कीमतों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने सरकार पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों लेकर उनसे सवाल किए है। इसके साथ ही उन्होंने मोदी सरकार पर अर्थव्यवस्था की हालत खराब करने का आरोप भी लगाया।

जियो ने आइडिया को पछाड़ा, तीसरे नम्बर पर पहुंचा



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.