दोस्ती और बैंकिंग को अलग रखें: आदित्य पुरी

Samachar Jagat | Thursday, 11 Jul 2019 10:40:21 AM
Put friendship and banking apart: Aditya Puri

मुंबई। जाने-माने बैंकर आदित्य पुरी ने अपने साथियों को निजी दोस्ती और बैंकिंग को अलग-अलग रखने की सलाह दी है। उन्होंने बताया है कि किस प्रकार उनके बैंक ने भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या के कर्ज के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया था। उन्होंने बताया कि किस प्रकार एचडीएफसी बैंक ने पूर्व शराब कारोबार को ऋण देने से मना कर दिया था।

पुरी ने कहा, ‘‘एक बैंकर किसी भी व्यक्ति के साथ कॉफी पी सकता है लेकिन उसके बाद उसे अपने मन की करनी चाहिए।‘‘
उन्होंने कहा कि लंबे समय तक उनके साथ काम करने वाले परेश सुक्तांकर ने माल्या को कर्ज देने से मना कर दिया था।

पत्रकार-लेखक तमाल बंधोपाध्याय की एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में एचडीएफसी बैंक के प्रमुख ने कहा, ‘‘अगर आपको ऋण देने में जोखिम है तो है। अगर आप मेरे दोस्त हैं तो मैं आपको एक कप कॉफी की पेशकश करके भेज सकता हूं। आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि वे (माल्या के अधिकारी) मेरे पास कर्ज लेने को आए थे। मैंने उन्हें कॉफी दिया और कहा कि कर्ज पर विचार करूंगा। इसके बाद परेश ने मना कर दिया।  एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.