सिद्धांतों में एकरूपता नहीं होने के कारण अधिक हैं स्पेक्ट्रम की दरें: रिपोर्ट

Samachar Jagat | Monday, 27 May 2019 11:57:41 AM
Rates of spectrum are more due to lack of consistency in principles

नई दिल्ली। दूरसंचार नियामक ट्राई ने स्पेक्ट्रम की जो कीमतें सुझाई हैं वे आधार दर की गणना के सिद्धांतों में एकरूपता नहीं होने की वजह से अधिक हैं। एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। इंडियन काउंसिल फोर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकोनॉमिक रिलेशंस (आईसीआरआईईआर) और ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम ने एक संयुक्त रिपोर्ट में कहा है, 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड की कीमत के हमारे आकलन से यह पता चला है कि आरक्षित कीमत न सिर्फ अधिक बनी हुई है, इसकी गणना के लिये अपनाये गये सिद्धांतों में भी समानता नहीं है।

यूजर्स को बहुत पसंद आ रहे हैं एयरटेल के ये दो बेहतरीन सस्ते प्रीपेड रिचार्ज प्लान

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने पहले की नीलामियों में बोली की कीमत पर अधिक जोर दिया और यह तरीका दो नीलामियों के बीच अधिक अंतराल नहीं होने के बाद भी बाजार तथा दूरसंचार कंपनियों की परिस्थितियों को बदलने के लिए हमेशा उत्तरदायी हो सकता है। ट्राई ने इस बारे में भेजे गए एक ईमेल का उत्तर नहीं दिया है।

लोगों को पसंद आ रही है रिलायंस जियो, लगातार घट रही है एयरटेल, वोडाफोन आइडिया के यूजर्स की संख्या

रिपोर्ट में कहा गया, स्पेक्ट्रम की नीलामी का डिजाइन तैयार करने में हमेशा जोखिम होता है। आरक्षित दरों पर अधिक निर्भरता से हमेशा सफल बाजार परिणाम मिल पाना जरूरी नहीं है। ऐसे कई अन्य कारक हैं जो नीलामी के परिणाम को प्रभावित करते हैं जैसे बोली लगाने वालों का रुझान, बाजार की परिस्थितियां और नीलामी एजेंट को तरजीह आदि। -एजेंसी

BSNL लेकर आया 99, 149 और 225 रूपए के तीन बेहतरीन पोस्टपेड प्लान, यूजर्स को होगा ये बड़ा फायदा



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.