आरबीआई अधिकारी, कर्मचारी कल से सामूहिक अवकाश पर

Samachar Jagat | Monday, 03 Sep 2018 05:08:49 PM
RBI officials, employees will be on collective leave from tomorrow

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के अधिकारी और कर्मचारियों ने वर्ष 2012 के बाद नियुक्त कर्मियों की पेंशन को अद्यतन करने और सहभागी भविष्य निधि (सीपीएफ)/ अतिरिक्त भविष्य निधि (एपीएफ) के लिए अनुदान देने की मांग को लेकर चार और पांच सितंबर को पूरे देश में सामूहिक अवकाश पर रहने की घोषणा की है। यूनाटेड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक आफिसर्स एंड एम्पलॉयीज( यूएफआरबीओई) ने इस सामूहिक अवकाश का आह्वान किया है।

संगठन ने सोमवार को यहां जारी बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि जो कर्मचारी 2012 के बाद नियुक्त हुए हैं उन्हें न्यू पेेंशन स्कीम (एनपीएस) में डाला गया है जिसमें सेवानिवृत्त के बाद कितनी राशि मिलेगी यह सुनिश्चित नहीं हैं क्योंकि एनपीएस की राशि को शेयर बाजार आदि में निवेश किया जाएगा और वहां मिलने वाले रिटर्न पर पेंशन तय की जाएगी। 

इसके मद्देनजर संगठन ने भविष्य की सुरक्षा के लिए बैंक के एपीएफ लागू करने की मांग, जहां कर्मचारियों को बैंक की ओर से फंड प्रबंधक के तौर पर एक सुनिश्चित ब्याज दिया जाएगा। इसके साथ ही संगठन ने इसके स्थान पर भारतीय स्टेट बैंक के सीपीएफ जैसी व्यवस्था करने का आग्रह किया है। संगठन ने कहा कि वह बहुत समय से मुद्दे को उठा रहा है। बैंक के कई गवर्नरों और केन्द्रीय बोर्ड ने इसके प्रति सहानुभूति दिखायी थी और इस मुद्दे को लगातार सरकार के समक्ष रखते आ रहे हैं लेकिन कई दशकों के बाद भी अब तक कोई समाधान नहीं किया गया है।

उसने कहा कि अभी रिजर्व बैंक के पेंशन निधि में 16 हजार करोड़ रुपए की राशि है जो केन्द्रीय बैंक ने कर्मचारियों के भविष्य निधि भागीदारी के रूप में जमा किया है। यह राशि पेंशन को अद्यतन बनाने के लिए पर्याप्त है और राजकोष पर बगैर किसी वित्तीय बोझ के एक और विकल्प की व्यवस्था की जा सकती है। संगठन ने कहा कि सरकार के उदासीन रवैया के मद्देनजर अधिकारी और कर्मचारी दो दिवसीय सामूहिक अवकाश पर जाने का निर्णय लिया है। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.