रिपोर्ट : बीएसएनएल, एयर इंडिया, एमटीएनएल हैं सबसे बीमारू सरकारी कंपनियां

Samachar Jagat | Tuesday, 13 Mar 2018 09:28:54 PM
Report BSNL Air India MTNL is the most sick state companies

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान इंडियन ऑयल, ओएनजीसी और कोल इंडिया सर्वाधिक मुना$फे में रहने वाली सरकारी कंपनियां रही हैं जबकि बीएसएनएल, एयर इंडिया और एमटीएनएल को सर्वाधिक नुकसान उठाना पड़ा है। संसद में आज पेश एक सरकारी सर्वेक्षण में यह जानकारी दी गयी है।

सौर ऊर्जा क्षेत्र ने 2017 में जुटाया 10 अरब डालर का निवेश

सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण 2016-17 के अनुसार, आलोच्य अवधि के दौरान 82 सरकारी कंपनियां नुकसान में रही हैं। नुकसान में रहने वाली शीर्ष 10 कंपनियों का कुल नुकसान में 83.82 प्रतिशत योगदान रहा है। शीर्ष 10 कंपनियों के कुल नुकसान में बीएसएनएल, एयर इंडिया और एमटीएनएल की हिस्सेदारी 55.66 प्रतिशत रही है।

आरबीआई ने समाप्त की लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग सुविधा

इस दौरान मुनाफे में रही शीर्ष 10 कंपनियों के कुल मुनाफे में इंडियन ऑयल, ओएनजीसी और कोल इंडिया की क्रमश: 19.69 प्रतिशत, 18.45 प्रतिशत और 14.94 प्रतिशत हिस्सेदारी रही है। हिदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड मुनाफे में रही शीर्ष 10 कंपनियों में स्थान बनाने में कामयाब रही हैं। हिदुस्तान फर्टीलाइजर और पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन इस सूची से बाहर हो गयी हैं।

एक्सिस बैंक जल्द लाएगा व्हाट्सऐप से भुगतान की सुविधा

इस दौरान कुल 174 कंपनियां मुनाफे में रहीं। इन कंपनियों के संयुक्त मुनाफे में शीर्ष 10 कंपनियों का 63.57 प्रतिशत योगदान रहा है। वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान नुकसान में रहने वाली हिदुस्तान केबल्स, भेल और ओएनजीसी विदेश लिमिटेड मुनाफा कमाने में कामयाब रही हैं। वेस्टर्न कोलफील्ड्स, एसटीसीएल, एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज और ब्रह्मपुत्र क्रैकर्स एंड पॉलीमर नुकसान में रही शीर्ष 10 कंपनियों में शामिल हो गयी हैं।

भारत ने किया सोयाबीन का रिकॉर्ड स्तर पर आयात

इस दौरान सभी 257 परिचालित सरकारी कंपनियों का सम्मिलित मुनाफा वित्त वर्ष 2015-16 के 1,14,239 करोड़ रुपये की तुलना में 11.7 प्रतिशत बढक़र वित्त वर्ष 2016-17 में 1,27,602 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.