रिजर्व बैंक ने बढ़ाई दर, घरेलू शेयर बाजार लुढक़े

Samachar Jagat | Wednesday, 01 Aug 2018 06:57:31 PM
Reserve Bank hikes rates, domestic stock market slowdown

मुंबई। रिजर्व बैंक के नीतिगत ब्याज दर बढ़ाने के साथ ही बुधवार को स्थानीय शेयर बाजार सहम गया और बंबई शेयर बाजार के सेंसेक्स का लगातार 7 दिन नई ऊंचाइयां तय करने का रिकॉर्ड तोड़ सिलसिला टूट गया। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बुधवार को शुरुआती कारोबार में 37,711.87 अंक के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था।

रिजर्व बैंक द्वारा दरें बढ़ाने की घोषणा के बाद इसकी गिरावट शुरू हुई। कारोबार की समाप्ति पर यह 84.96 अंक यानी 0.23 प्रतिशत गिरकर 37,521.62 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी रिकॉर्ड उ‘चस्तर से लुढक़ा और 10.30 अंक यानी 0.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,346.20 अंक पर बंद हुआ।

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने 2 महीने के भीतर दूसरी बार ब्याज दर 0.25 प्रतिशत बढ़ा दी है।ब्याज दर के प्रति संवेदनशील वाहन, वित्त एवं बैंकिंग कंपनियों शेयर गिरावट में रहे। ब्रोकरों ने कहा कि उच्च स्तर पर हुई मुनाफावसूली और जुलाई में विनिर्माण के कमतर पीएमआई ने भी बिकवाली का दबाव बढ़ाया।

शुरुआती आंकड़ों के अनुसार गत दिवस विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक 572.21 करोड़ रुपए के शुद्ध लिवाल रहे। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 290.87 करोड़ रुपए की शुद्ध बिकवाली की। जियोजित फाइनेंशियल सॢवसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि रिजर्व बैंक द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 के लिए वृद्धि दर का पूर्वानुमान 7.4 प्रतिशत बरकरार रखने से बाजार मेेंं निवेशकों का भरोसा बहाल करने में मदद मिलेगी।

कच्चे तेल की ज्यादा कीमतें और मुद्रास्फीति का जोखिम मौद्रिक नीति में दिखा है और न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि से जुड़ी अनिश्चितता पूर्वानुमान में मुख्य कारक रहा है। उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति और आॢथक वृद्धि के बीच संतुलन बनाने की रिजर्व बैंक की कोशिश तथा कंपनियों के तिमाही परिणाम से बाजार की दिशा को समर्थन मिलेगा।

सेंसेक्स की कंपनियों में वेदांता सर्वाधिक 1.84 प्रतिशत नुकसान में रही। नुकसान में रही अन्य कंपनियों में मारुति सुजुकी को 1.75 प्रतिशत, भारती एयरटेल 1.68 प्रतिशत, टाटा स्टील 1.46 प्रतिशत, एचडीएफसी 1.24 प्रतिशत, इंफोसिस 0.82 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 0.73 प्रतिशत, एलएंडटी 0.&8 प्रतिशत और अडाणी पोर्ट्स 0.16 प्रतिशत नुकसान में रही।

कोल इंडिया 3.29 प्रतिशत, टीसीएस 1.74 प्रतिशत, सन फार्मा 1.61 प्रतिशत, आईटीसी 1.51 प्रतिशत, पावर ग्रिड 1.02 प्रतिशत, ओएनजीसी 0.73 प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक 0.58 प्रतिशत और रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.45 प्रतिशत की बढ़त में रहीं। समूहों के आधार पर वाहन सर्वाधिक 0.77 प्रतिशत नुकसान में रहा। धातु, बैंक, दूरसंचार, वित्त, विद्युत, पूंजीगत वस्तुओं और आधारभूत संरचना में 0.62 प्रतिशत तक की गिरावट रही।

हालांकि चिकित्सा, तेल एवं गैस, सार्वजनिक कंपनियां, एफएमसीजी, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, सूचना प्रौद्योगिकी, प्रौद्योगिकी और रीयल्टी में 1.11 प्रतिशत तक की तेजी रही। स्मॉलकैप और मिडकैप क्रमश: 0.26 फीसदी और 0.19 फीसदी  की तेजी में रहे। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.86 प्रतिशत और सिंगापुर 0.27 प्रतिशत की तेजी में रहे। हांग कांग का हैंग सेंग 0.85 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 1.80 प्रतिशत की नुकसान में रहे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.