RBI सरकार को देगा 50 हजार करोड़ रुपए का लाभांश

Samachar Jagat | Thursday, 09 Aug 2018 02:11:24 PM
Reserve Bank to give dividend of 50 thousand crore rupees to the government

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशकों के केंद्रीय बोर्ड ने सरकार को 30 जून 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए 50 हजार करोड़ रुपए का अधिशेष हस्तांतरित करने को मंजूरी दी है। खबरों के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशकों के केंद्रीय बोर्ड ने आठ अगस्त 2018 को एक बैठक की और इस बैठक में अधिशेष हस्तांतरित करने को मंजूरी दी गई। जुलाई से जून वित्तवर्ष का अनुपालन करने वाले रिजर्व बैंक ने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 63 प्रतिशत अधिक लाभांश दिया है। पिछले वित्त वर्ष में उसने सरकार को 3,659 करोड़ रुपए का लाभांश दिया था। 

आपको बता दें आरबीआई ने 30 जून 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए केंद्र सरकार को 50 हजार करोड़ रुपए का लाभांश देने का निर्णय लिया है। रिजर्व बैंक का यह कदम केन्द्र सरकार के आम बजट के प्रावधानों के अनुकूल है और इससे राजकोषीय रूपरेखा को बनाए रखने में मदद मिलेगी। रिजर्व बैंक बोर्ड की यहां हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

केंद्रीय बैंक ने जारी बयान में कहा, रिजर्व बैंक के निदेशकों के केंद्रीय बोर्ड ने आठ अगस्त 2018 को हुई बैठक में सरकार को 30 जून 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए 50 हजार करोड़ रुपए का अधिशेष हस्तांतरित करने को मंजूरी दी है। इससे पहले इस साल मार्च में उसने सरकार को वित्त वर्ष के लिए 10 हजार करोड़ रुपए का अंतरिम लाभांश दिया था।

सरकार ने बजट में रिजर्व बैंक, राष्ट्रीयकृत बैंकों और वित्तीय संस्थानों से 54,817.25 करोड़ रुपए का लाभांश मिलने का अनुमान लगाया है। पिछले साल सरकार को इस मद में 51,623.24 करोड़ रुपए प्राप्त हुए थे। पिछले वित्त वर्ष में रिजर्व बैंक ने सरकार को 30,659 करोड़ रुपए का लाभांश दिया था जो कि उससे पिछले साल के दिये गये लाभांश के मुकाबले आधे से भी कम था। जून 2017 में समाप्त वित्त वर्ष में लाभांश कम रहने का कारण नोटबंदी के बाद नये नोटों की छपाई का खर्च है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.