एसबीआई के 18,135 एटीएम को नए नोटों के अनुकूल बनाने का काम अभी बाकी: आरटीआई

Samachar Jagat | Thursday, 23 Aug 2018 04:17:41 PM
SBI 18,135 ATMs are yet to be adapted for new notes  RTI

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंदौर। नोटबंदी के 21 माह बाद भी सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के 18,135 एटीएम को अभी भी नए नोटों के अनुरूप नहीं ढाला जा सका है। हालांकि, इस अवधि में बैंक ने 22.50 करोड़ रुपए के खर्च से 41,386 एटीएम को नए नोटों के अनुरूप तैयार कर लिया है। मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने बताया कि स्टेट बैंक ने उनकी आरटीआई अर्जी के जवाब में यह जानकारी दी है। गौड़ ने एसबीआई से पूछा था कि बैंक के कितने एटीएम अब तक 2,000, 500 और 200 रुपए के नए नोटों के अनुरूप ढाले जा चुके हैं। जवाब में एसबीआई ने बताया कि अब तक बैंक के 59,521 एटीएम में से 41,386 नकदी निकासी मशीनों को रीकैलिब्रेट कर लिया गया है और इस काम पर 22.50 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गयी है। एसबीआई के उत्तर से स्पष्ट है कि फिलहाल उसके 18,135 एटीएम ग्राहकों को नए नोट देने लायक नहीं बन सके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2016 को 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी। इसके बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने सिलसिलेवार तरीके से 2,000, 500 और 200 रुपए के नए नोट जारी किए थे । गौरतलब है कि देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की पहली अप्रैल-जून तिमाही में 7.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है। एसबीआई की एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रमुख संकेतकों मसलन सीमेंट उत्पादन, वाहन बिक्री और बैंक ऋण में सुधार हुआ है। एसबीआई का यह आकलन उसके कम्पोजिट लीडिंग  इंडिकेटर (सीएलआई) पर आधारित है। इसमें 18 प्रमुख वृहद आर्थिक संकेतकों को शामिल किया जाता है। 

एसबीआई की शोध रिपोर्ट इकोरैप में कहा गया है कि सीएलआई से संकेत मिलता है कि पहली तिमाही में आर्थिक गतिविधियों में उल्लेखनीय सुधार हुआ है और सकल मूल्य वर्धन (जीवीए) वृद्धि दर 7.6 प्रतिशत रहेगी। रिपोर्ट में हालांकि, कहा गया है कि प्रमुख जीवीए कमजोर कृषि वृद्धि की वजह से नीचे आ सकती है। पहली तिमाही में जीवीए की वृद्धि में सीमेंट उत्पादन, यात्रियों की संख्या, वाणिज्यिक एवं यात्री वाहनों की बिक्री, गैर खाद्य ऋण वृद्धि और विमानों की आवाजाही का प्रमुख योगदान होगा। केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के जीडीपी वृद्धि आंकड़े 31 अगस्त को जारी करेगा। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.